विराट कोहली © IANS
विराट कोहली © IANS

श्रीलंका के खिलाफ खेले गए पहले वनडे में भारतीय टीम ने शानदार जीत हासिल की। भारत की तरफ से शिखर धवन ने (132*) और कप्तान विराट कोहली ने (82*) रनों की पारी खेली। कोहली एक बार फिर से लक्ष्य का पीछा करते हुए बेहतरीन लय में नजर आए और उन्होंने भारत को जीत दिलाकर ही दम लिया। कोहली ने नाबाद 82 रनों की पारी खेली और अंत तक आउट नहीं हुए। इस पारी के साथ ही कोहली ने कई बड़ी उपलब्धियों को अपने नाम कर लिया। आइए आपको विस्तार से बताते हैं कोहली ने किन उपलब्धियों को अपने नाम किया। ये भी पढ़ें: टीम इंडिया की जीत का सिलसिला बरकरार, श्रीलंका को 9 विकेट से धोया

लक्ष्य का पीछा करते हुए बतौर कप्तान कोहली का औसत 120 के ऊपर: कोहली को हमेशा से ‘चेजिंग मास्टर’ कहा जाता है। कोहली को लक्ष्य का पीछा करा बेहद रास आता है। कोहली ने कप्तानी संभालने के बाद भी लगातार शानदार पारियां खेलीं हैं और भारत को जीत दिलाई है। लक्ष्य का पीछा करते हुए बतौर कप्तान कोहली ने अब तक 18 मैच खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 123.55 की औसत के साथ 1,112 रन बनाए हैं। कोहली के बल्ले से 5 शतक और 6 अर्धशतक निकले हैं। वहीं उनका उच्चतम स्कोर 139* रन रहा है।

इसी दौरान लक्ष्य का पीछा करते हुए जीते हुए मैच में बतौर कप्तान कोहली का औसत 80.95 का है। अगर हम सिर्फ बतौर खिलाड़ी लक्ष्य का पीछा करते हुए उनके औसत की बात करें तो ये 67.32 का पहुंच जाता है और जीते हुए मैच में कोहली ने बतौर खिलाड़ी 100.02 के औसत से रन बनाए हैं। साफ है कोहली लक्ष्य का पीछा करने के दौरान सबसे बेहतरीन बल्लेबाज हैं।

लक्ष्य का पीछा करने के दौरान सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में तीसरे नंबर पर: कोहली लक्ष्य का पीछा करने के दौरान सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले पर तीसरे नंबर पर आ गए हैं। कोहली से आगे सिर्फ सचिन तेंदुलकर और रिकी पोंटिंग ही हैं। तेंदुलकर ने लक्ष्य का पीछा करते हुए 55.45 की औसत से 5,490 रन बनाए हैं, तो वहीं पोंटिंग ने 57.34 की औसत से 4,186 रन बनाए हैं। तीसरे नंबर पर कोहली ने 100.02 की औसत से अब तक 4,001 रन बना लिए हैं। ये भी पढ़ें: शिखर धवन ने सिर्फ 71 गेंदों में ठोका शतक, बना दिया ये बड़ा रिकॉर्ड

लक्ष्य का पीछा करने के दौरान कोहली ने ठोके हैं 16 शतक, 18 अर्धशतक: कोहली ने लक्ष्य की पीछा करने के दौरान 16 शतक ठोके हैं, इस दौरान कोहली ने 2 बार 150 रनों से ज्यादा की पारी भी खेली है। वहीं 2 बार उन्होंने 90 से 99, 6 बार 80 से 89, 5 बार 70 से 79, 3 बार 60 से 69 और 2 बार 50 से 59 का स्कोर किया है।