फोटो साभार: indianexpress.com
फोटो साभार: indianexpress.com

भारत और वेस्टइंडीज के बीच एक बार फिर से टी20 की जंग शुरू होने वाली है। दोनों टीमों के बीच दो टी20 मैचों की सीरीज इस बार यूएसए के शहर फ्लोरिडा में खेली जा रही है। इन दोनों टीमों की टी20 में अंतिम बार मुलाकात टी20 विश्व कप 2016 के सेमीफाइनल में हुई थी जहां भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा था। ऐसे में भारतीय टीम जाहिर तौर पर अपनी हार का बदला लेना चाहेगी। आंकड़ों पर नजर दौड़ाएं तो इन दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 5 टी20 मैच खेले जा चुके हैं जिनमें 3 में वेस्टइंडीज ने और दो में भारतीय टीम ने जीत हासिल की है। वेस्टइंडीज की टीम ने इन तीनों मैचों में जीत अपनी बल्लेबाजी के दम पर हासिल की है। साथ ही पांच मौकों में सिर्फ एक बार ही भारतीय गेंदबाज वेस्टइंडीज के खिलाफ अपनी चुनौती पेश करने में कामयाब हुए हैं, जब उन्होंने साल 2014 में वेस्टइंडीज को 129 रनों पर रोककर भारतीय टीम को जीत दिलवाई थी।

वेस्टइंडीज का अगर कोई बल्लेबाज सबसे ज्यादा भारत के खिलाफ सफल हुआ है तो वह है लेंडल सिमंस। सिमंस ने भारत के खिलाफ अब तक कुल 4 टी20 मैच खेले हैं जिनमें उन्होंने 54.00 की औसत से 162 रन बनाए हैं। सिमंस की ही 82* रनों की नाबाद पारी की बदौलत वेस्टइंडीज ने भारत को टी20 विश्व कप सेमीफाइनल 2016 में हार का मुंह दिखाया था। सिमंस का भारत के विरुद्ध स्ट्राइक रेट भी 136.13 का है। साथ ही गौर करने वाली बात है कि जिस मैच में वह भारत के खिलाफ 40 से ज्यादा रन बनाते हैं उसमें वेस्टइंडीज की जीत जरूर होती है।

वहीं बात करें हरीकेन क्रिस गेल की तो वह भी भारतीय टीम के खिलाफ अच्छे खासे सफल रहे हैं। भारत के खिलाफ 4 टी20 मैच खेल चुके गेल ने अब तक 39.75 की औसत से 159 रन बनाए हैं। गेल का भारत के विरुद्ध सर्वोच्च स्कोर 98 है। लेकिन वह भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को खेलने में अक्सर चकराते नजर आते हैं। ऐसे में एमएस धोनी को उनसे पार पाने के लिए बुमराह का बड़ा चतुराई से इस्तेमाल करना होगा। टी20 विश्व कप 2016 के सेमीफाइनल में जब भारतीय टीम का वेस्टइंडीज से सामना हुआ था तो उन्होंने शुरुआती विकेट तो जल्दी- जल्दी झटक लिए थे लेकिन बीच के ओवरों में भारतीय टीम की गेंदबाजी एक दम से फुस्स हो गई थी।

जाहिर है कि एमएस धोनी जिन्होंने उस मैच में अश्विन से शुरुआती ओवरों में दो ओवर फिंकवाने के बाद अंतिम ओवरों में बिल्कुल भी गेंदबाजी नहीं करवाई थी ऐसी गलती दुहराना नहीं चाहेंगे। वहीं वह वेस्टइंडीज के बल्लेबाजी क्रम से पार पाने के लिए अपने सबसे बेहतरीन गेंदबाजी आक्रमण को मैदान पर उतारना चाहेंगे। गौर करने वाली बात है कि इस सीरीज में भारतीय टीम के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाज आशीष नेहरा नहीं है ऐसे में तेज गेंदबाजी की अगुआई मोहम्मद शमी करते नजर आएंगे।

हाल ही में वेस्टइंडीज के विरुद्ध संपन्न हुई टेस्ट सीरीज में शमी ने बेहतरीन गेंदबाजी का मुजाहिरा पेश किया था और बल्लेबाजों को खूब छकाया था। धोनी पांच गेंदबाजों के साथ मैदान पर उतर सकते हैं। साथ ही अगर स्टुअर्ट बिन्नी को टीम में शामिल किया जाता है तो टीम के लिए वह ऑलराउंडर का रोल निभा सकते हैं। विश्व कप टी20 में जो भारतीय टीम वेस्टइंडीज के विरुद्ध खेली थी उससे यह टीम थोड़ी सी भिन्न है।

भारतीय टीम वर्तमान में 128 प्वाइंट के साथ रैकिंग में दूसरे स्थान पर हैं जो शीर्ष पर मौजूद न्यूजीलैंड से चार अंक पीछे हैं। वहीं वेस्टइंडीज टीम इस सूची में 122 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर है। अगर वेस्टइंडीज यह सीरीज 0-2 से जीतती है तो उसके 127 अंक हो जाएंगे और भारत के 124 अंक रह जाएंगे और इस तरह वेस्टइंडीज दूसरे नंबर पर और भारतीय टीम तीसरे नंबर पर खिसक जाएगी।

वहीं अगर भारतीय टीम 2-0 से सीरीज जीतने में कामयाब होती है तो भारतीय टीम के अंक शीर्ष पर काबिज न्यूजीलैंड के बराबर हो जाएंगे। लेकिन दशमलव के अंकों के आधार पर न्यूजीलैंड पहले स्थान पर रहेगा। ऐसी परिस्थिति में वेस्टइंडीज 118 अंकों के साथ चौथे स्थान पर पहुंच जाएगा और दक्षिण अफ्रीका 119 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर काबिज हो जाएगा। अगर सीरीज 1-1 से बराबर होती है तो टीम इंडिया 128 अंकों के साथ वेस्टइंडीज के 123 अंकों से आगे रहेगी।

वहीं यह सीरीज खिलाड़ियों की व्यक्तिगत परफॉरमेंस के लिए भी महत्वपूर्ण होगी। वर्तमान में टी20 में भारत के विराट कोहली 837 अंकों के साथ शीर्ष पर हैं। वहीं दूसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया के एरन फिंच हैं जो उनसे 34 अंक पीछे हैं। जाहिर है कि कोहली अपनी नंबर एक पोजीशन बरकरार रखना चाहेंगे। उनके बाद नाम आता है रोहित शर्मा का जो 23वें नंबर पर हैं।

वहीं भारतीय कप्तान एमएस धोनी 50वें नंबर पर हैं। लेकिन अगर वह इस सीरीज में ज्यादा बल्लेबाजी करते नजर आते हैं तो जाहिर तौर पर वह अपनी रैंकिंग सुधार सकते हैं। वहीं वेस्टइंडीज की ओर से बात करें तो क्रिस गेल(8वें) और अनुभवी बल्लेबाज मर्लोन सैम्युअल्स(17वें) स्थान पर हैं। वहीं अन्य बल्लेबाजों में लेंडल सिमंस(31वें), ड्वेन ब्रावो(37वें) और आंद्रे फ्लैचर(48वें) स्थान पर काबिज हैं। जाहिर है ये सभी बल्लेबाज अपनी रैंकिंग बढ़ाने को लेकर आश्वस्त होंगे।

वेस्टइंडीज के स्पिन गेंदबाज सैमुअल बद्री पहले स्थान पर हैं। वहीं सुनिल नरेन चौथे स्थान पर हैं। मीडियम पेसरों में ड्वेन ब्रावो 39वें स्थान पर हैं। भारत की ओर से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह दूसरे स्थान पर हैं। आर. अश्विन दूसरे भारतीय गेंदबाज हैं जो टॉप 10 में शामिल हैं। वहीं रवीद्र जडेजा 19वें स्थान पर हैं। वहीं ऑलराउंडरों की लिस्ट में मर्लोन सैम्युअल्स 5वें स्थान पर हैं।

दोनों टीमें इस प्रकार है:

इंडिया

महेंद्र सिंह धोनी(कप्तान), रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, लोकेश राहुल, रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, उमेश यादव, अमित मिश्रा, स्टुअर्ट बिन्नी।

वेस्ट इंडीज

आंद्रे फ्लेचर, आंद्रे रसेल, कार्लोस ब्रेथवेट(कप्तान), क्रिस गेल, ड्वेन ब्रावो, इविन लुईस, जेसन होल्डर, जॉनसन चार्ल्स, कीरोन पोलार्ड, लेंडल सिमंस, मार्लोन सैमुअल्स, सैमुअल बद्री, सुनील नरेन।