live cricket score, live score, live score cricket, india vs england live, india vs england live score, ind vs england live cricket score, india vs england 5th test match live, india vs england 5th test live, cricket live score, cricket score, cricket, live cricket streaming, live cricket video, live cricket, cricket live Chennai
करुण नायर और लोकेश राहुल भारतीय युवा ब्रिगेड का चेहरा हैं © IANS

इंग्लैंड के खिलाफ कर्नाटक के दो युवा बल्लेबाजों ने अपनी बल्लेबाजी प्रतिभा का प्रदर्शन करते हुए सबका दिल जीता। चारों तरफ इन दोनों खिलाड़ियों की चर्चा है। जी हां यहां बात कर रहे हैं करुण नायर और लोकेश राहुल की। दोनों ही रणजी ट्रॉफी में कर्नाटक के लिए खेलते हैं दोनों ने पांचवें टेस्ट में इंग्लैंड की गेंदबाजी आक्रमण को भोथरा साबित करते हुए बड़े शतक जमाए। राहुल सिर्फ 1 रन से दोहरा शतक जमाने से चूक गए मगर उनकी इस चूक का बदला नायर ने लिया और अपने पहले ही शतक के तौर पर तिहरा शतक जड़ दिया। राहुल ने 199 रनों की पारी खेली तो नायर ने नाबाद 303 रन बनाए।

इन दोनों की जोड़ी जब मैदान पर इंग्लैंड की गेंदबाजी का मजाक बना रही थी तब भारत के दिग्गज सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने इन दोनों की तुलना भारत के दो महान बल्लेबाजों राहुल द्रविड़ और गुंडप्पा विश्वनाथ के साथ की। ये दोनों महान बल्लेबाज भी कर्नाटक के लिए खेलने के बाद भारतीय टीम के लिए खेले। इंग्लैंड के खिलाफ मैराथन पारियों खेलने वाले राहुल और नायर की जोड़ी पहले भी इस तरह का कारनामा अंजाम दे चुकी है। उस वक्त भी राहुल दोहरा शतक जमाने से चूक गए थे और नायर ने तिहरा शतक जमाया था। इन दोनों ने यह कारनामा किसी छोटे मोटे घरेलू मुकाबले में नहीं बल्कि रणजी ट्रॉफी 2015 के फाइनल में अंजाम दिया था। इन दोनों ने रणजी ट्रॉफी 2015 के फाइनल में कर्नाटक को मुश्किल परिस्थितियों से निकालते हुए टीम को पारी और 217 रनों की बड़ी जीत दिलाई थी। [Also Read: राहुल- नायर के प्रदर्शन से बंद हुए धवन- रोहित की वापसी के दरवाजे!]

रणजी ट्रॉफी 2015 के फाइनल में कर्नाटक ने पहली पारी में तमिलनाडु को मात्र 134 रनों पर समेट दिया था। इसके जवाब में बल्लेबाजी करने उतरे कर्नाटक की शुरूआत बेहद खराब रही। राहुल सिर्फ 1 रन बनाकर रिटायर हर्ट हो गए और पहले दिन का खेल खत्म होने तक कर्नाटक टीम सिर्फ 45 रन पर अपने 4 शुरूआती विकेट गंवा चुकी थी। नायर 9 रन और अभिमन्यु मिथुन 14 रन बनाकर टिके हुए थे। [Also Read: तिहरे शतक के साथ ही करुण नायर ने बनाए ये पांच बड़े रिकॉर्ड]

दूसरे दिन जब खेल शुरू हुआ तो मिथुन 39 रन बनाकर आउट हुए। चोट के बावजूद राहुल टीम को मुश्किल परिस्थिति से निकालने के लिए विकेट पर आए। राहुल और नायर की जोड़ी ने कर्नाटक को उबारते हुए टीम का स्कोर 450 के पार पहुंचा दिया। राहुल इस मैच में भी अपना दोहरा शतक 12 रनों से चूक गए थे। लेकिन चोट के बावजूद 188 रनों की पारी ने उनकी दृढ़ मानसिकता का परिचय दे दिया था। दोनों ने 386 रनों की साझेदारी निभाई। राहुल के जाने के बाद नायर ने विनय कुमार के साथ पारी को आगे बढ़ाते हुए अपना तिहरा शतक पूरा किया और 328 रनों की पारी खेलकर पवेलियन लौटे थे। विनय कुमार ने भी शानदार शतक जमाया। राहुल ने इस मैच में चोट के बावजूद लगभग 9 घंटे बल्लेबाजी की थी तो नायर ने लगभग 15 घंटे का समय विकेट पर बिताया था।

एक समय 45 पर 4 विकेट गंवा कर संघर्ष कर रही कर्नाटक टीम ने राहुल- नायर और विनय कुमार के शतकों की बदौलत अपनी पहली पारी 762 रन पर खत्म किया। तमिलनाडु दूसरी पारी में 411 रन ही बना सकी और कर्नाटक ने यह मैच पारी और 217 रनों के बड़े अंतर से जीतकर रणजी ट्रॉफी पर अपना कब्जा जमाया। इस मैच को नायर के तिहरे शतक और राहुल की चोट के बावजूद खेली गई 188 रनों की पारी के लिए जाना जाता रहेगा। इन दोनों ने भले ही भारत के लिए यह कारनामा चेन्नई टेस्ट में दिखाया है लेकिन इसकी छाप उन्होंने रणजी ट्रॉफी 2015 के फाइनल में ही छोड़ दी थी।