जब स्कॉटलैंड की ओर से खेले राहुल द्रविड़
फोटो साभार: www.sportslook.net

साल 1996 से 2012 तक भारतीय टीम का अंग रहे ‘मिस्टर वॉल’ राहुल द्रविड़ ने इस दौरान कई कीर्तिमान अपने नाम किए। लेकिन शायद ही आपको पता हो कि अपने इस 16 साल लंबे करियर के दौरान राहुल द्रविड़ स्कॉटलैंड की ओर से भी क्रिकेट खेले। द्रविड़ ने एक पूरी सीरीज में स्कॉटलैंड की ओर से क्रिकेट खेली थी। लेकिन यह कब और कैसे हुआ? हम आपको इसकी पूरी कहानी से रूबरू कराते हैं।

यह बात साल 2003 की है। भारत ने विश्व कप 2003 में उम्मीदों के उलट जबरदस्त प्रदर्शन किया था और यही कारण था कि भारतीय टीम के कप्तान सौरव गांगुली और उपकप्तान राहुल द्रविड़ के बेहतरीन खेल के खूब कसीदे पढ़े जा रहे थे। यह क्रिकेट का वह दौर था जब गर्मियों में भारतीय टीम बहुत कम सीरीजें खेला करती थी।

When Rahul Dravid played from Scotland
फोटो साभार: in.news.yahoo.com

इसी साल राहुल द्रविड़ की शादी हुई थी और वह अपने पत्नी विजेता के साथ व्यस्त थे। इसी बीच भारतीय टीम के तत्कालीन कोच जॉनराइट ने राहुल द्रविड़ को काउंटी सर्किट में स्कॉटलैंड की टीम का 3 महीने के लिए प्रतिनिधित्व करने का प्रस्ताव दिया। चूंकि राहुल द्रविड़ को भी अपनी पत्नी के साथ हनीमून के लिए जाना था इसलिए उन्होंने हामी भर दी। 

उस समय स्कॉटलैंड टीम अपने आपको स्थापित करने में लगी हुई थी और उन्हें अच्छे खिलाड़ियों के साथ खेलने की खासी जरूरत थी ताकि वे अपने आपको विश्व क्रिकेट के हिसाब से मांज सकें। ऐसे में उनके लिए भारतीय क्रिकेटरों से अच्छा साथी कोई और नहीं हो सकता था जो टीम में नैतिकता के साथ स्कॉटिश खिलाड़ियों को प्रेरित व प्रोत्साहित करे ताकि स्कॉटिश खिलाड़ी अपने 2007 के विश्व कप में खेलने के सपने के बारे में सोच सकें।

राहुल द्रविड़ ने इस पूरी सीरीज में स्कॉटलैंड के लिए कुल 11 काउंटी मैच खेले और इस दौरान उन्होंने अपनी टीम की ओर से सर्वाधिक 66.66 की औसत से 600 रन बनाए।

राहुल द्रविड़ के स्कॉटलैंड के लिए खेले गए मैच-

1. स्कॉटलैंड बनाम हैंपशायर: इस मैच में राहुल द्रविड़ 41 गेंदों में 25 रन ही बना पाए थे। इस मैच में जब वह एलन मुलाले की गेंद में आउट हुए थे तो उनके चेहरे पर स्कॉटलैंड को अपना अच्छा योगदान ना दे पाने की कसक साफ दिख रही थी। अंततः स्कॉटलैंड इस 50 ओवरों के मैच में 201 रन ही बना सकी और हैंपशायर ने यह मैच 2 ओवर पहले ही जीत लिया। [ये भी पढ़ें:

2. स्कॉटलैंड बनाम सोमरसेट: इस मैच में राहुल द्रविड़ ने 97 गेंदों में 120 रन ठोंककर अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी सा सुबूत पेश किया था। उनकी इस पारी में उन्होंने कुल 10 चौके और तीन छक्के जड़े थे। जिसकी मदद से स्कॉटलैंड ने 296/4 का स्कोर खड़ा किया था। लेकिन स्कॉटलैंड का गैर- अनुभवी गेंदबाजी आक्रमण इस स्कोर को नहीं बचा सका और आखिरकार सोमरसेट ने 5 गेंदों पहले ही एक विकेट से यह मैच जीत लिया।

3. स्कॉटलैंड बनाम मिडिलसेक्स: इस एक तरफा मुकाबले में मिडिलसेक्स के 255 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी स्कॉटलैंड टीम के शुरुआत में ही 36 रनों पर 5 विकेट गिर गए थे। इस मैच में द्रविड़ ने 6 रन बनाए थे। आखिरकार स्कॉटलैंड यह मैच 112 रनों से हार गई।

When Rahul Dravid played from Scotland
फोटो साभार: www.sportskeeda.com

4. स्कॉटलैंड बनाम नॉटिंघमशायर: इस मैच में राहुल द्रविड़ ने अकेले 129 रनों की पारी खेली थी जिसमें उन्होंने 14 चौके और 4 छक्के जड़े थे। यह पिच जिसमें तेज गेंदबाजों को भारी मदद मिल रही थी उसमें राहुल द्रविड़ने विपक्षी टीम की बखिया उधेड़ दी थी लेकिन स्कॉटलैंड के अन्य खिलाड़ी ये नहीं कर पाए और अंततः पूरी टीम 222 रनों पर ऑलआउट हो गई। अंत में नॉटिंघमशायर ने यह मैच 4 विकेट से जीत लिया था।

5. स्कॉटलैंड बनाम डरहम: इस मैच में शोएब अख्तर के कहर के आगे स्कॉटलैंड की पूरी टीम नतमस्तक नजर आई थी। 268 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी स्कॉटलैंड टीम ने 6 रनों पर अपने पांच विकेट गंवा दिए और अंततः उन्हें 114 रनों से हार काम सामना करना पड़ा था। इस मैच में राहुल द्रविड़ कुल 5 रन ही बना पाए थे।

6. स्कॉटलैंड बना लंकाशायर: यह मैच 39 ओवरों का था और स्कॉटलैंड ने कुल 168रन बनाए जिसमें राहुल द्रविड़ के 30 गेंदों में 26 रन भा शामिल थे। लंकाशायर ने इस मैच को 10 ओवरों पहले ही 10 विकेट से जीत लिया।

7. स्कॉटलैंड बनाम एसेक्स: टूर्नामेंट में खराब शुरुआत करने वाली स्कॉटलैंड टीम को अपनी पहली जीत एसेक्स के खिलाफ नसीब हुई थी। एसेक्सके 270 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी स्कॉटलैंड की टीम की ओरसे राहुल द्रविड़ ने 69 रन ठोके थे और स्कॉटलैंड को 6 विकेट से जीत दिलवाई थी।

8. स्कॉटलैंड बनाम हैंपशायर: ऐतिहासिक जीत के बाद स्कॉटलैंड ने फिर से लगातार हारना शुरू कर दिया। हैंपशायर के खिलाफ मैच में वह 45 ओवर के मैच में 225 रनों के स्कोर को नहीं बचा पाए। इस मैच में द्रविड़ ने 99 गेंदों में 81 रन बनाए थे। स्कॉटलैंड इस मैच को 7 विकटों से हार गई।

9. स्कॉटलैंड बनाम नार्थपंटशायर: एक बार फिर से द्रविड़ ने शतक 114 ठोका। लेकिन उन्हें टीम के खिलााड़ियों से कोई सहयोग नहीं मिला। 320 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए
टीम यह मैच 75 रनों से हार गई।

10. स्कॉटलैंड बनाम नार्थपंटशायर: इस मैच में स्कॉटलैंड की पूरी टीम 119 रनों पर ऑलआउट हो गई। इस दौरान द्रविड़ ने 45 गेंदों में 24 रन बनाए थे। विपक्षी टीम ने इस मैच को आसानी से 8 विकेट से जीत लिया।

11. स्कॉटलैंड बनाम सुसेक्स: यह द्रविड़ का स्कॉटलैंड के लिए अंतिम काउंटी मैच था और इस मैच में वह सिर्फएक रन ही बना सके।, लेकिन इस मैच में भी स्कॉटलैंड हा से दूर नहीं भाग पाई और 1 विकेट से उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

इसके अलावा द्रविड़ स्कॉटलैंड की ओर से एक टूर मैच में पाकिस्तान के खिलाफ खेले थे। लेकिन इस मैच कि पहली ही गेंद पर वह शून्य पर आउट हो गए थे। इसमैच को पाकिस्तान ने बड़ी आसानी से जीत लिया था। इस तरह उन्होंने स्कॉटलैंड के लिए कुल 12 मैच खेले।