सचिन तेंदुलकर ने शारजाह में 134 रनों की शानदार पारी खेली थी। © Getty Images
सचिन तेंदुलकर ने शारजाह में 134 रनों की शानदार पारी खेली थी। © Getty Images

क्रिकेट का जिक्र जब भी किया जाएगा एक शख्स का नाम लिए बिना वह अधूरा रहेगा, वह नाम है सचिन तेंदुलकर। सचिन ने सिर्फ 16 साल की उम्र में भारत के लिए क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। 1989 में सचिन ने  पाकिस्तान के दौरे पर अपना पहला मैच खेला था, जहां सचिन ने केवल 15 रन ही बनाए थे लेकिन वकार युनिस के पेस अटैक का सचिन ने बड़ी खूबसूरती से सामना किया। आखिरी टेस्ट मैच में वकार की एक गेंद सचिन की नाक पर लगी और खून बहने लगा पर सचिन ने उस हालत में भी बल्लेबाजी की। सचिन के नाम टेस्ट और वनडे में कई शानदार रिकॉर्ड है साथ ही सचिन ऐसे पहले खिलाड़ी हैं जिन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया है। पर क्या आप जानते हैं कि एक मैच में सचिन ने कुछ ऐसा किया था कि सौरव गांगुली क्रीज पर ही गिर पड़े थे। जानिए कौन हैं वह पांच खिलाड़ी जो दिल्ली में दिलाएंगे जीत

1998 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के साथ शारजाह में कोका कोला कप टूर्नामेंट में हिस्सा लिया था। भारत और ऑस्ट्रेलिया इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहु्ंचे थे। फाइनल मैच शारजाह स्टेडियम में खेला गया था जहां पर पहले खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया ने 272 रन बनाए थे। उस मैच में भारतीय गेंदबाजों भगवत चन्द्रशेखर और अजीत अगरकर ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था। अब बारी थी भारत के खेलने की, भारतीय टीम की ओर से सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली मैदान पर उतरे। सचिन ने आते ही तेज खेलना शुरू कर दिया, ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की उनके सामने एक नहीं चल रही थी। तभी छठवें ओवर की चौथी गेंद पर सचिन ने अपनी पसंदीदा स्ट्रेट ड्राइव खेली। गेंद इतनी तेजी से सामने की तरफ गई की नॉन स्ट्राइकर एंड पर खड़ें गांगुली संभल नहीं पाए और गिर पड़े। कुछ देर तक सौरव को समझ ही नहीं आया कि क्या हुआ पर बाद में वह भी सचिन के साथ इस वाकये पर हंस पड़े।

उस मैच में सचिन ने धमाकेदार पारी खेली और 134 रन बनाए जिसकी बदौलत भारत ने फाइनल मैच जीतकर कोका कोला कप अपने नाम किया। सचिन को मैन ऑफ द मैच के साथ मैन ऑफ द सीरीज का खिताब भी मिला। साथ ही सीरीज में सबसे तेज अर्धशतक लगाने और सबसे ज्याद छक्के मारने का कारनामा भी सचिन ने ही किया था। शारजाह में खेली गई इस पारी को सचिन के फैन्स कभी भुला नहीं पाए, आज भी इस पारी को क्रिकेट की बेहतरीन पारियों में गिना जाता है। सचिन ने अपनी स्ट्रेट ड्राइव से एक बार अंपायर अलीम दार को गिरा दिया था। 2013 में सचिन के रिटायर होने के बाद फैन्स ने नम आंखों से अपने भगवान को विदा किया था। सचिन मैदान के भले दूर हों लेकिन क्रिकेट से उन्हें दूर रख पाना मुश्किल हैं, आज भी सचिन कई अलग भूमिकाओं में क्रिकेट से जुड़े हैं।