दुनिया के महान क्रिकेटरों के सबसे खराब मैदान

पिछले दो दशकों के दौरान क्रिकेट में कुछ ऐसे बल्लेबाज हुए जिन्होंने अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी से दुनियाभर को मुरीद बनाया। जहां भी वे गए वहां उन्होंने रनों का अंबार सा लगा दिया। लेकिन इस बीच उनके क्रिकेट करियर में ऐसे भी मैदान रहे जिनपर वे अपने पूरे करियर के दौरान रन बनाने के लिए जूझते नजर आए। आज हम आपको ऐसे ही पांच क्रिकेटरों के बारे में रूबरू कराने जा रहे हैं जिनकी बल्लेबाजी के कसीदे पूरी क्रिकेट बिरादरी में मशहूर हैं, लेकिन वे कुछ मैदानों पर एक- एक रन बनाने के लिए तरसते रहे।

1. ब्रायन लारा:

Worst cricket ground of iconic cricketers
फोटो साभार: REUTERS

कैरिबियाई बल्लेबाज ब्रायन लारा बिना किसी शक के टेस्ट क्रिकेट के बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक हैं। उनकी त्रुटिहीन टाइमिंग, जबरदस्त स्ट्रोक्स और बल्लेबाजी में लय ने उन्हें विश्व क्रिकेट में एक बड़ा मुकाम हासिल करवाया। लारा ने अपने पूरे टेस्ट करियर में 11,953 रन बनाए। साथ ही उनके नाम टेस्ट मैचों में 400 रन बनाने का रिकॉर्ड भी दर्ज है।

इसके पहले उन्होंने 375 रनों का रिकॉर्ड बनाया था। लेकिन इस सबसे इतर ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्बेन क्रिकेट ग्राऊंड पर लारा अपनी पूरी जिंदगी भर रनों के लिए तरसते रहे। लारा ने अपना पहला टेस्ट मैच इसी मैदान पर खेला था और 58 रनों की पारी खेली। लेकिन इस पारी के बाद इस मैदान पर लारा हमेशा फेल होते रहे। इसके बाद खेले गए 3 टेस्ट मैचों में वह सिर्फ 118 रन ही जोड़ पाए और इस तरह लारा ने 22 की औसत से इस मैदान पर 4 टेस्ट मैचों में 176 रन बनाए। यहां तक कि लारा इस दौरान 2 बार शून्य पर भी आउट हुए। इस तरह ये मैदान लारा के लिए सबसे खराब मैदान रहा।

2. राहुल द्रविड़:

Worst cricket ground of iconic cricketers
फोटो साभार: scripbox.com

एक ऐसा क्रिकेटर जिसने पूरी दुनिया में रनों का अंबार लगाया वह अपने घर में बुरी तरह से फेल हुआ। हम बात कर रहें बैंगलुरू के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम की जहां राहुल द्रविड़ टेस्ट मैचों में लगातार फेल हुए और यह मैदान उनके क्रिकेट करियर के सबसे खराब मैदानों में से एक है। टेस्ट मैचों में 52.31 की औसत से 13,288 रन बनाने वाले द्रविड़ के का उच्चतम स्कोर 270 रन है। द्रविड़ एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में 8 टेस्ट मैचों में 21.71 की औसत से 304 रन बनाने में ही कामयाब हुए हैं जो उनकी बल्लेबाजी औसत को देखते हुए बहुत कम है।

3. जैक कैलिस:

Worst cricket ground of iconic cricketers
फोटो साभार: AFP(telegraph.co.uk)

जैक कैलिस ने अपने पूरे टेस्ट करियर के दौरान कई मुकामों को अपने नाम रचने में सफलता अर्जित की। कैलिस ने टेस्ट मैचों में 55.57 के रिकॉर्ड औसत के साथ 13,289 रन बनाए जो बताता है कि वह कितने बढ़िया बल्लेबाज थे। लेकिन इसके बावजूद वह इंग्लैंड के हेडिंग्ले के मैदान पर अक्सर कम स्कोर में आउट हुए।

आलय ये रहा कि इस मैदान पर खेले गए 4 टेस्ट मैचों में वह 20 के औसत से महज 140 रन बनाने में ही कामयाब हो पाए। इस दौरान वह एक अर्धशतक भी नहीं जमा पाए। इंग्लैंड में खेले गए 15 टेस्ट मैचों में कैलिस ने 35.33 के औसत से रन बनाए, लेकिन हेडिंग्ल में उनका औसत 20 पहुंच गया।

4. रिकी पोंटिंग:

Worst cricket ground of iconic cricketers
फोटो साभार: wearandcheer.com

ऑस्ट्रेलिया के बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक रिकी पोंटिंग ने अपने पूरे टेस्ट करियर में कुल 13,378 रन बनाए। इस दौरान उनका औसत 51.85 का रहा। इतने बेहतरीन करियर के बावजूद पोंटिंग लॉर्ड्स के मैदान पर हमेशा जूझते नजर आए। पोंटिंग ने लॉर्ड्स पर 4 टेस्ट मैच खेले जिनमें उन्होंने 16.87 की औसत से महज 135 रन बनाए। इस दौरान उनका उच्चतम स्कोर 42 रन रहा। इंग्लैंड की धरती पर पोंटिंग का टेस्ट मैचों में औसत 41.97 का रहा है। इस लिहाज से लॉर्ड्स के मैदान पर उनका ये औसत निराशाजनक है।

5. सचिन तेंदुलकर:

Worst cricket ground of iconic cricketers
फोटो साभार:

भारत के सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट क्रिकेट में इतने कीर्तिमानों का अंबार लगाया कि उनके सामने अन्य बल्लेबाजों के रिकॉर्ड बौने नजर आते हैं। लेकिन लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राऊंड से सचिन की कभी नहीं बनी और वह हमेशा इस मैदान पर फेल हुए। सचिन ने इस मैदान पर 5 टेस्ट मैच खेले जिनमें वह 21.66 की औसत से महज 195 रन बनाने में कामयाब हो पाए।

इस दौरान सचिन का उच्चतम स्कोर 37 रहा। यही कारण रहा कि सचिन लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राऊंड में चस्पा एलीट ऑनर्स बोर्ड में अपना नाम शामिल नहीं कर सके। जिसका उन्हें जिंदगी भर मलाल रहेगा। हालांकि, सचिन ने जरूर साल 1998 में 125 रनों की पारी खेली थी, लेकिन वह पारी उन्होंने रेस्ट ऑफ द वर्ल्ड के लिए एमसीसी के खिलाफ एक वनडे चैरिटी मैच में खेली थी।