साल 2016 ईयरएंडर © Getty Images
साल 2016 ईयरएंडर © Getty Images

जब एक नए साल की शुरुआत होती है तो हर टीम युवा प्रतिभा को टीम में शामिल करने के लिए नई- नई योजनाएं बनाती है। टीम इंडिया की बात करें तो वह अच्छे और धारदार गेंदबाजों की तलाश में हर साल ढेरों युवाओं को टीम में जगह देती है। हालांकि, वो और बात है कि इतने सालों बाद भी टीम इंडिया को एक तेजतर्रार गेंदबाज नसीब नहीं हुआ है। वहीं पाकिस्तान अच्छे बल्लेबाज, ऑस्ट्रेलिया हर तरह के बेहतरीन खिलाड़ियों और बांग्लादेश ऐसे क्रिकेटरों की तलाश में रहता है जो उच्च स्तर की क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर सकें। 2016 क्रिकेट के लिए फिर से बेहतरीन साल रहा और इस साल कई नए नवेले खिलाड़ियों ने अपना जौहर दिखाया। जैसा कि साल खत्म होने आ रहा है। ऐसे में आइए जानते हैं साल 2016 के पांच सबसे बेहतरीन पदार्पण करने वाले खिलाड़ियों के बारे में। इस लिस्ट में हमने वनडे, टी20I और टेस्ट क्रिकेट, तीनों फॉर्मेट के खिलाड़ियों को उनके प्रदर्शन के आधार पर स्थान दिया है।

1. केएल राहुल: राहुल ने साल 2014-15 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे के बीच में ही अपना डेब्यू किया था और तीसरी पारी में ही टेस्ट क्रिकेट का पहला शतक ठोंक दिया था। इसके बाद इसी साल उन्होंने अगला सैकड़ा श्रीलंका के खिलाफ जड़ दिया था। साल 2015 के बाद टीम इंडिया में शीर्ष क्रम पर स्थान बनाने के लिए जद्दोजहद देखने को मिल रही थी। ऐसे समय में जैसे ही राहुल को साल 2016 में वनडे और टी20 टीम में खेलने का मौका मिला उन्होंने धमाल मचा दिया। राहुल ने जिम्बाब्वे के खिलाफ अपने कुल तीन वनडे मैचों में 100*, 33 और 66* रनों की पारी खेली और वेस्टइंडीज दौरे के लिए टी20I सीरीज में अपना नाम टीम इंडिया में शामिल करवा लिया। वेस्टइंडीज के खिलाफ अमेरिका में टी20 सीरीज के पहले राहुल ने टेस्ट सीरीज में 158 रनों की शानदार पारी खेली थी। वहीं टी20 सीरीज में उन्होंने भारत की ओर से अंतरराष्ट्रीय टी20 क्रिकेट का सबसे तेज 46 गेंदों में शतक ठोंक दिया। लेकिन इसके बाद वह एकाएक चोटिल हो गए और उन्हें कुछ महीनों के लिए क्रिकेट से बाहर रहना पड़ा। लेकिन राहुल ने वापसी करने के बाद इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम टेस्ट में 199 रनों की मैराथन पारी खेली और साल 2016 के भारत के उदीयमान सितारे के रूप में नंबर एक पर रहे। [ये भी पढ़ें: साल 2016 के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर प्रदर्शन]

2. बाबर आजम: बेहतरीन तकनीकी के धनी पाकिस्तानी बल्लेबाज बाबर आजम ने इस साल जिस तरह की क्रिकेट खेली है उससे पता चलता है कि वह बड़ी पारी खेलने को लेकर हमेशा तैयार रहते हैं। बाबार ने थोड़े से समय में ही पाकिस्तान की बल्लेबाजी को स्थिरता प्रदान की है जो पिछले कुछ समय से ताश के पत्तों की तरह बिखर रही थी। बाबर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन लगातार शतक जड़कर पाकिस्तान टीम को ढाढस बंधाया कि वह इस टीम को नए दिशा में ले जाएंगे। बाबर ने पदार्पण साल 2015 में किया था लेकिन वह इस दौरान सिर्फ अर्धशतक ही लगा पाए थे। साल 2016 में आते ही बाबर बरस पड़े। पहले उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ दो अर्धशतक जड़े। फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन लगातार शतक जड़ दिए और सीमित ओवरों के क्रिकेट में वह पाकिस्तान क्रिकेट की धुरी के रूप में उभरे। वह साल 2016 के सबसे बेहतरीन पाकिस्तानी उदीयमान खिलाड़ी हैं।

3. कार्लोस ब्रेथवेट: भले ही वेस्टइंडीज के कार्लोस ब्रेथवेट ने सीमित ओवरों की क्रिकेट में साल 2011 में पदार्पण किया था लेकिन उनके लिए सबसे बेहतरीन साल 2016 रहा। ब्रेथवेट ने अपना पहला टी20 विश्व कप साल 2016 में खेला और फाइनल मैच में दबाव की परिस्थिति में अंतिम ओवर में चार लगातार छक्के जड़कर अपनी टीम को टी20 विश्व कप चैंपियन बना दिया। इसके बाद वह वेस्टइंडीज टीम के टी20 कप्तान बने और भारत के खिलाफ पहला मैच जीता। उनके पास अभी भी बहुत कुछ देने को है और वह सीमित ओवर क्रिकेट में बल्ले और गेंद दोनों से धमाकेदार प्रदर्शन कर रहे हैं। वह इस साल वेस्टइंडीज टीम के सबसे बेहतरीन उभरते हुए सितारे हैं।

4. हसीब हमीद: भले ही इंग्लैंड को भारतीय दौरे में 4-0 से करारी हार का सामना करना पड़ा लेकिन उन्हें इसी दौरान एक ऐसा खिलाड़ी मिला जो उनके क्रिकेट भविष्य के संवारने के लिए तैयार है। हसीब हमीद ने भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में अपने टेस्ट करियर का आगाज किया। वह अपने पहले मैच में उमेश यादव और मोहम्मद शमी जैसे गेंदबाजों के सामने बेहतरीन बल्लेबाजी करते नजर आए। इसके अलावा उन्होंने अश्विन के खिलाफ भी अपना त्रुटिहीन फुटवर्क दिखाया। उन्होंने इस दौरान लेट कट, स्वीप और स्पिनरों के खिलाफ क्रीज से बाहर निकलकर स्ट्रोक खेले और बतौर बल्लेबाज अपनी उच्च क्लास दर्शाई। तीन टेस्ट मैचों में हमीद ने दो अर्धशतक जड़े और 43.80 की औसत से रन बनाए। उन्होंने 59 नाबाद रन बनाए थे और इस दौरान उनकी अंगुली में चोट लगी थी। ये बताता है कि वह अपनी बैटिंग से कितनी मोहब्बत करते हैं। भले ही उन्होंने महज एक सीरीज खेली लेकिन उन्हें इंग्लैंड क्रिकेट के लिए बड़े खिलाड़ी के रूप में देखा जा रहा है।

5. जेसन रॉय: इंग्लैंड की ओर से पहले टी20 क्रिकेट में धमाल मचाने के बाद रॉय ने वनडे क्रिकेट में एक तेजतर्रार ओपनर की भूमिका बखूबी निभाई। इस साल में उन्होंने 17 वनडे में 43.13 की औसत से 647 रन बनाए। इस दौरान दो शतक और दो अर्धशतक जड़े। टी20 में तो रॉय ने कमाल तब किया था जब उन्होंने 50 गेंदों में 78 रन ठोकते हुए न्यूजीलैंड को वर्ल्ड टी20 सेमीफाइनल से बाहर का रास्ता दिखा दिया। वह सीमित ओवरों की क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और साल 2017 में वह भारत के खिलाफ सीमित ओवर सीरीज में घातक साबित हो सकते हैं। साथ ही उनके दिमाग में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी भी होगी जो साल 2017 में ही जून में आयोजित की जाएगी।