भारतीय टीम में इंग्लैंड के खिलाफ इन पांच खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया जा सकता है © Getty Images
भारतीय टीम में इंग्लैंड के खिलाफ इन पांच खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया जा सकता है © Getty Images

भारत और इंग्लैंड के बीच हाल ही में संपन्न टेस्ट सीरीज में तो टीम इंडिया ने इंग्लैंड को करारी मात दे दी। लेकिन अब बारी सामित ओवरों के खेल की। वनडे सीरीज में भारतीय टीम एक बार फिर से टेस्ट सीरीज के प्रदर्शन को दोहराने की होगी। लेकिन सीमित ओवरों में भारतीय टीम के लिए चुनौती आसान नहीं होगी। इंग्लैंड की टीम वनडे क्रिकेट में बेहतरीन खेल रही है और टीम के कई खिलाड़ी बेहतरीन फॉर्म में हैं। ऐसे में भारतीय चयनकर्ताओं के सामने टीम को मजबूती देने के साथ-साथ एसे खिलाड़ियों को चुनने की चुनौती होगी जो भारत को जीत दिला सकें। तो आइए नजर डालते हैं ऐसे ही पांच खिलाड़ियों पर जो आगामी वनडे सीरीज में बना सकते हैं मौका।

1. युवराज सिंह: एक ऐसा खिलाड़ी जो हमेशा से भारत के लिए मैच विनर रहा है। जो कभी भी, कहीं से भी मैच जिताने का माद्दा रखता है। लेकिन लंबे समय से टीम से बाहर चल रहे युवराज सिंह आगामी वनडे मैचों में अपनी जगह बना सकते हैं। हाल ही में रणजी ट्रॉफी में युवराज सिंह ने गजब की बल्लेबाजी की थी और जमकर रन बनाए थे। युवराज ने रणजी में अपनी बेहतरीन फॉर्म के दम पर पांच मैचों में 84 की औसत के साथ 672 रन ठोक डाले थे। साथ ही युवराज ने इसी दौरान 260 रनों की पारी खेली जो उनके प्रथम श्रेणी क्रिकेट की सर्वश्रेष्ठ पारी है। रणजी में अपने प्रदर्शन पर युवराज ने कहा, ‘जिस तरह से मैंने रणजी में खेल दिखाया है उससे मैं काफी संतुष्ट हूं। युवराज ने एमपी के खिलाफ अपनी 177 और 76 की पारी को याद करते हुए कहा कि मैंने उस मैच की दोनों पारियों में अच्छी बल्लेबाजी की थी और पंजाब ने उस मुकाबले को अपने नाम किया था। मेर काम सिर्फ मैदान पर जाकर रन बनाना है।

हाल ही में हेजल कीच के साथ शादी के बंधन में बंधे युवराज ने कुछ दिन पहले कहा था कि मैं काफी मेहनत कर रहा हूं, मुझे लगता है कि मेरे अंदर अभी काफी क्रिकेट बाकी है और मैं टीम को अभी काफी कुछ दे सकता हूं। मैं वो सब कर रहा हूं जिसके लिए चयनकर्ता मुझे टीम में बुलाने पर मजबूर हो जाएं। मुझे अभी भी लगता है कि मेरे अंदर अभी भी कुछ सालों की क्रिकेट बाकी है और मैं एक बार फिर से भारत के लिए मैच जीतना चाहता हूं। युवराज ने आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच टी20 विश्व कप में खेला था। ऐसे में चयनकर्ता युवराज के अनुभव और उनके रणजी में शानदार प्रदर्शन को तरजीह दे सकते हैं। ये भी पढ़ें: रोमांचक मुकाबले में जब भारत ने पाकिस्तान को हराया और जीत लिया था सिल्वर जुबली इंडिपेंडेंस कप

2. सुरेश रैना: लगभग एक साल से टीम से बाहर चल रहे सुरेश रैना को न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय टीम में चुना गया था और टीम में खेलने के वह प्रबल दावेदार भी थे। लेकिन मैच से ठीक पहले वह वायरल बुखार की चपेट में आ गए और टीम में वापसी की उनकी उम्मीदों को झटका लग गया। इसके बाद रैना बुखार के कारण पूरी सीरीज से ही बाहर हो गए। लेकिन एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो जब अपने रंग में होते हैं तो बड़े से बड़े गेंदबाज की धज्जियां उड़ा देते हैं। रैना टीम में हरफनमौला खिलाड़ी का रोल निभाते हैं और धोनी के लिए वह एक तुरुप का इक्का हैं। भारत के निचले क्रम में रैना भारत के सबसे आक्रामक बल्लेबाजों में से एक हैं। रैना उस समय बल्लेबाजी के लिए आते हैं जब भारत को तेज गति से रनों की जरूरत होती है।

रैना ने अब तक 35 की औसत से 5568 रन बनाए हैं और इस दौरान रैना का स्ट्राइक रेट 93 से भी ज्यादा का रहा है। रैना नंबर 4, 5 और 6 पर खेलते हुए भारत के लिए काफी उपयोगी साबित हुए हैं। वहीं रणजी ट्रॉफी में भी कई उपयोगी पारियां खेलीं थीं। रैना ने रणजी में केलवे के खिलाफ दोनों पारियों में 91, 91 की शानदार पारी खेली थी। इसके अलावा उन्होंने इंडिया ग्रीन की तरफ से खेलते हुए इंडिया ब्लू के खिलाफ 52, 35 और 90 रनों की पारी खेली थी। ऐसे में फिनिशर की कमी महसूस कर रही टीम इंडिया को रैना के रूप में एक बेहतरीन फिनिशर मिल सकता है। तो जब चयनकर्ता वनडे टीम का चयन करेंगे तो रैना के नाम पर मुहर लगा सकते हैं।

3. आशीष नेहरा: आशीष नेहरा ने भारतीय टीम में टी20 में तो अपनी जगह बनाने में कामयाब रहे हैं लेकिन अब उनका इरादा वनडे में वापसी करने का है। मोहम्मद शमी के चोटिल होने के कारण भारतीय टीम को एक अनुभवी तेज गेंदबाज की तलाश है। ऐसे में लगभग पांच साल बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने वाले आशीष नेहरा चयनकर्ताओं के लिए एक अच्छे विकल्प साबित हो सकते हैं। नेहरा ने वापीसी के बाद टी20 में शानदार खेल दिखाया है। हालांकि नेहरा ने अपना आखिरी वनडे मैच पांच साल पहले खेला था।

नेहरा ने अब तक 120 वनडे मैचों में 157 विकेट झटके हैं और उनका सर्वश्रेष्ठ 23 रन देकर छह विकेट रहा है। नेहरा ने साल 2016 में टी20 मुकाबलों में शानदार खेल दिखाया है और वनडे में वापसी के लिए तैयार हैं। ऐसे में चयनकर्ता नेहरा के अनुभव को तरजीह दे सकते हैं और इंग्लैंड के खिलाफ आगामी वनडे मैचों में उन्हें खेलने का मौका दे सकते हैं।

4. के एल राहुल: रोहित शर्मा, शिखर धवन और अजिंक्य रहाणे चोटिल चल रहे हैं ऐसे में टेस्ट में बेस्ट बन चुके के एल राहुल इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में अपनी जगह बना सकते हैं। राहुल ने साल 2016 में टेस्ट में बेहतरीन खेल दिखाया था। आखिरी टेस्ट में उन्होंने 199 रनों की पारी खेली थी। राहुल ने हाल फिलहाल में कई बड़ी पारियां खेलीं हैं और वह वनडे में भी वापसी का दम रखते हैं। ऐसे में राहुल बतौर सलामी बल्लेबाज टीम के साथ जुड़ सकते हैं और टीम के लिए बल्ले से धमाल मचा सकते हैं।

राहुल के अब तक के वनडे करियर की बात करें तो उन्होंने अब तक सिर्फ तीन ही मैच खेले हैं, लेकिन तीनों ही मैचों में उन्होंने बेहतरीन खेल दिखाया है। राहुल के नाम 3 मैचों में 196 की औसत के साथ 196 रन दर्ज हैं। इस दौरान उन्होंने 1 शतक और 1 अर्धशतक लगाया है। राहुल का सर्वोच्च नाबाद 100 रन रहा है। ऐसे में राहुल भी वनडे टीम में अपनी जगह बना सकते हैं। ये भी पढ़ें: भारत आने से पहले यूएई में अभ्यास करेगी ऑस्ट्रेलिया की टीम

5. करुण नायर: करुण नायर अब किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं। टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक जड़ने के बाद उन्होंने अब वनडे टीम का दरवाजा भी खटखटा दिया है। करुण नायर ने इंग्लैंड के ही खिलाफ आखिरी टेस्ट मैच में शानदार बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया था और वीरेंद्र सहवाग के बाद तिहरा शतक लगाने वाले सिर्फ दूसरे बल्लेबाज बने थे। करुण नायर ने अब तक अपने करियर में सिर्फ दो वनडे मैच खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 23 की औसत के साथ 46 रन बनाए हैं और उनका सर्वोच्च स्कोर 39 रहा है। भले ही अभी तक दो वनडे मैचों में नायर प्रभावशाली ना रहे हों लेकिन टेस्ट सीरीज में भी वह शुरुआती मैचों में चल नहीं सके थे। लेकिन आखिरी टेस्ट में उन्होंने जिस तरह का खेल दिखाया था वो सबके सामने है। ऐसे में करुण नायर की मौजूदा फॉर्म को देखते हुए चयनकर्ता उनके नाम पर विचार कर सकते हैं।