watch video when andrew symonds played brilliant innings against pakistan

साल 2003 का वर्ल्ड कप था। शेन वॉटसन चोटिल हुए तो ऐंड्रू सायमंड्स को बुलावा भेजा गया। वह साउथ अफ्रीका पहुंचे। तब तक दुनिया ने उनके खेल की झलकियां देखीं थीं लेकिन टीम में उनकी जगह पक्की नहीं थी। लेकिन कप्तान रिकी पॉन्टिंग को उन पर भरोसा था।

टूर्नमेंट शुरू होन से पहले ही ऑस्ट्रेलिया को काफी परेशानियां हुईं। प्रतिबंधित दवा के सेवन के आरोप में शेन वॉर्न पर बैन लग चुका था। वह घर लौट गए थे। डैरेन लेहमन भी सस्पेंडेड थे और माइकल बेवन चोटिल। यानी टीम के सामने मुश्किलें थीं। लेकिन वह ऑस्ट्रेलिया मुश्किलों को मौके बनाती। कोई न कोई खिलाड़ी आगे आता और मोर्चा संभालता। ऐसा ही मैच पाकिस्तान के खिलाफ था।

84 के स्कोर पर टीम के चार विकेट गिर गए थे। तब सायमंड्स नंबर छह पर बल्लेबाजी करने उतरे। वह उतरे और बाजी पलटनी शुरू हुई। जब पॉन्टिंग आउट हुए तो सायमंड्स ने 50 गेंद पर 34 रन बनाए थे।

इसके बाद सायमंड्स ने हाथ खोलने शुरू किए। या कहें चौड़े करने शुरू किए। उनके अगले 109 रन 75 गेंद पर आए। और इस दौरान ऑस्ट्रेलिया ने 164 रन बनाए। पोंटिंग ने कहा भी था कि हमें उनकी प्रतिभा पर विश्वास था और हम जानते थे कि वह ऐसा कर सकते हैं। 143 रन की अपनी नाबाद पारी में उन्होंने 18 चौके और 2 छक्के लगाए। ऑस्ट्रेलिया ने 8 विकेट पर 310 रन बनाए और पाकिस्तान 228 पर ढेर। इसके बाद सेमीफाइनल में श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने 91 रन की पारी खेली।