युवराज सिंह और अनमोलप्रीत सिंह © Getty Images
युवराज सिंह और अनमोलप्रीत सिंह © Getty Images

पिछले सीजन में रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट स्टेज में न पहुंच पाने वाली पंजाब टीम को उस समय तगड़ा झटका लगा था जब उनके दिग्गज खिलाड़ी युवराज सिंह ने रणजी ट्रॉफी सीजन 2017-18 के शुरुआती मैचों में न खेलने का फैसला किया। ऐसे में उनकी जगह टीम में किसे खिलाया जाए ये एक बड़ा निर्णय था जिसपर टीम मैनेजमेंट और खुद कप्तान जीवनजोत सिंह को फैसला लेना था। 6 अक्टूबर को हिमाचल प्रदेश के खिलाफ मैच के पहले 19 साल के क्रिकेटर अनमोलप्रीत सिंह को टीम में शामिल करने का फैसला लिया गया।

अनमोलप्रीत, टैलेंट हो तो ऐसा: अनमोलप्रीत ने 6 अक्टूबर 2017 को हिमाचल के खिलाफ पहले मैच के साथ ही अपना फर्स्ट क्लास डेब्यू किया और उन्होंने पहले ही मैच में 50 रनों की पारी खेली। इस दौरान वह खासे टच में नजर आए थे। यही कारण रहा कि उन्हें फिर से दूसरे मैच में मौका दिया गया। गोवा के खिलाफ 24 अक्टूबर से शुरू हुए इस मैच में अनमोलप्रीत ने शानदार शतक जमा दिया औ जता दिया कि भले ही उनकी उम्र 19 साल हो लेकिन रनों की भूख किसी भी हिसाब से कम नहीं है। तीसरे मैच में तो अनमोलप्रीत और भी आक्रामक हो गए।

1 नवंबर से छत्तीसगढ़ के खिलाफ खेले जा रहे इस मैच के तीसरे ही दिन अनमोल ने दोहरा शतक जड़ा दिया। दिलचस्प बात ये रही कि उन्होंने 262 गेंदो में 267 रन ठोंक दिए जिसमें 28 चौके और 4 छक्के शामिल थे। अनमोल इस दौरान चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए थे। ये वही बैटिंग पोजीशन हैं जहां युवराज सिंह पंजाब के लिए खेलते हैं।

ये बात साफ है कि युवराज सिंह अब ज्यादा दिनों तक क्रिकेट में सक्रिय नहीं रहने वाले। ऐसे में पंजाब टीम में उनका उत्तराधिकारी कौन होगा, शायद अनमोलप्रीत ने अपनी दावेदारी पेश कर दी है। अनमोलप्रीत ने अबतक 3 प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं जिनमें वह दो शतक लगा चुके हैं। वहीं उनका औसत 143.33 का है।

एबी डीविलियर्स को पीछे छोड़ने के साथ 3 रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं रोहित शर्मा
एबी डीविलियर्स को पीछे छोड़ने के साथ 3 रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं रोहित शर्मा

भले ही अनमोलप्रीत के करियर का यह शुरुआती दौर हो लेकिन कहते हैं न कि पूत के पैर तो पालने में नजर आ जाते हैं। इस बात को जाहिरतौर पर अनमोलप्रीत ने सार्थक सिद्ध किया है।