© AFP
© AFP

टीम इंडिया श्रीलंका के खिलाफ रविवार से शुरू हो रही तीन मैचों की सीरीज को 3-0 के इरादे से जीतने को उतरेगी। वह इसलिए क्योंकि अगर उसे द. अफ्रीका को नंबर 1 वनडे रैंकिंग से बेदखल करके खुद को उस स्थान पर काबिज करना है तो यह करना अनिवार्य है। 3-0 से वॉइटवॉश के साथ टीम इंडिया नंबर 1 रैंकिंग अपने नाम कर लेगी। टीम इंडिया इस समय सिर्फ टेस्ट क्रिकेट में ही नंबर 1 है। वहीं वनडे में उसके 120 रेटिंग अंक हैं और वह द. अफ्रीका से सिर्फ 1 अंक पीछे है। टीम इंडिया अगर धर्मशाला में पहला वनडे जीत लेती है तो उसके 121 अंक हो जाएंगे लेकिन फिर भी वह दशमलव के अंकों के आधार पर द. अफ्रीका से पीछे रहेगी।

ऐसे में अगर उसे द. अफ्रीका को पीछे धकेलना है तो उसे बाकी दो मैच भी जीतने होंगे। टीम इंडिया धर्मशाला में पहला मैच 10 दिसंबर को खेलेगी। इसके बाद वे 13 और 17 दिसंबर को मोहाली और विशाखापत्तनम में मैच खेलेंगे। श्रीलंका 83 अंकों के साथ रैंकिंग में आठवें नंबर पर है। अगर टीम इंडिया सीरीज 1-0 से हार जाती है तो उसके कुल अंक 119 रह जाएंगे। गौरतलब है कि टीम इंडिया ने श्रीलंका को 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 से मात दी है। वहीं दूसरी ओर अगर श्रीलंका 3-0 से सीरीज हारती है तो उसके 83 अंक ही रहेंगे। वहीं अगर उसे 3-0 से जीत हासिल होती है तो उसके 87 अंक हो जाएंगे।

इस सीरीज में टीम इंडिया की कप्तानी रोहित शर्मा करेंगे क्योंकि नियमित कप्तान विराट कोहली को आराम दिया गया है। इसके पहले रोहित ने कभी भी टीम इंडिया की कप्तानी नहीं की है। इस लिहाज से वह कैसे अपनी रणनीतियों को लागू करते हैं ये देखना खासा दिलचस्प होगा। रोहित आईपीएल में मुंबई इंडियंस की कप्तानी करते हैं और इस दौरान वह खासे सफल भी रहे हैं। हाल ही में एक इंटरव्यू में टीम के स्पिन गेंदबाज युजवेंद्र चहल ने कहा कि रोहित कोहली की ही तरह आक्रामक हैं और दोनों में जीत को लेकर बराबर भूंख है।