एबी डीविलियर्स © Getty Images
एबी डीविलियर्स © Getty Images

आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में मिली हार को पीछे छोड़ कर दक्षिण अफ्रीका की एकदिवसीय टीम के कप्तान एबी डीविलियर्स इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली तीन मैचों की टी-20 सीरीज में बेहतर प्रदर्शन कर आगे बढ़ना चाहते हैं। टी-20 टीम के कप्तान फाफ ड्यू प्लेसिस की गैरमौजूदगी में डीविलियर्स को टीम की कमान सौंपी गई है। चैंपियंस ट्रॉफी में मिली हार के बाद उनकी कप्तानी पर भी सवाल उठे थे। ऐसे में डिविलियर्स इस सीरीज को अपनी नेतृत्व क्षमता को बेहतर करने के मौके के तौर पर देख रहे हैं।

डीविलियर्स के लिए यह आसान नहीं होगा क्योंकि टी20 के बाद टेस्ट सीरीज खेली जानी है और इसलिए टीम के बड़े खिलाड़ियों को आराम दिया गया है। ऐसे में वह एक युवा और कम अनुभवी टीम का नेतृत्व करेंगे। क्रिकइंफो ने डीविलियर्स के हवाले से लिखा है, “चैंपियंस ट्रॉफी के बाद के कुछ दिन काफी मुश्किल रहे। इस दौरान हमने काफी आलोचना सुनी। यह आसान नहीं होता है लेकिन मैं हमेशा से हर जगह सकारात्मकता तलाशने और अपने आप में सुधार करने की कोशिश करता हूं। यह तीन मैच मुझे एक खिलाड़ी और कप्तान के तौर पर मौका देंगे।” [ये भी पढ़ें: चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल से पहले विराट ने दी थी अनिल कुंबले को गाली?]

उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता कि मुझे किसी को गलत साबित करना है या किसी को कुछ साबित करना है। मैं बस खेलना चाहता हूं। मैं उस युवा खिलाड़ी की तरह महसूस कर रहा हूं जो अपने करियर की शुरुआत कर रहा हो। मैं ऊर्जा से भरपूर हूं। मैं कुछ रन बनाना चाहता हूं और टीम को अपनी कप्तानी में जिताना चाहता हूं।”