AB De Villiers: I’m passionate about my country but I’ve moved on
AB de Villiers © AFP

कुसल मेंडिस और कुसल परेरा की शानदार पारियों के दम पर श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को उसके घर में 2-0 से टेस्ट सीरीज हराकर इतिहास रचा। घरेलू मैदान पर मिली इस हार से पूर्व दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेटर एबी डीविलियर्स काफी दुखी हैं। हालांकि उन्होंने ये भी साफ किया है कि वो किसी भी सूरत में अपने संन्यास का फैसला नहीं बदलेंगे। डीविलियर्स का कहना है कि टीम को हारते देखना तकलीफ देने वाला है लेकिन वो फिलहाल जिस जगह हैं, वहां पर खुश हैं।

ये भी पढ़ें: एक भी गेंद खेले बिना बारिश से धुला वेस्टइंडीज-इंग्लैंड का तीसरा वनडे

दिग्गज बल्लेबाज ने स्टैंडर्ड स्पोर्ट से बातचीत में कहा, “अपने दोस्तों के साथ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट खेलना, अपने देश के लिए रन बनाना, ये ऐसी चीज है जिसे मैं थोड़ा याद करता हूं लेकिन कई सारी ऐसी चीजें हैं जिन्हें मैं बिल्कुल मिस नहीं करता। मैं इसका 90 प्रतिशत मिस नहीं करता। मैं आगे बढ़ चुका हूं। मैंने इस बात से समझौता कर लिया है कि विश्व कप मेरे करियर को परिभाषित नहीं कर सकता। हां, अपने करियर में इसे जोड़ पाना अच्छा होता, लेकिन मुझे पता है कि बतौर क्रिकेटर या बतौर इंसान ये मुझे परिभाषित नहीं करता।”

ये भी पढ़ें: मिडिलसेक्स क्लब के साथ जुड़े एबी डिविलियर्स

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी से इंकार करते हुए डिविलियर्स ने आगे कहा, “आप हर किसी को खुश नहीं कर सकते, मैं हमेशा से ही लोगों को खुश करने की कोशिश में लगा रहा। अपने देश के प्रति मेरे अंदर काफी जुनून है लेकिन मैं अपनी जिंदगी में ऐसे स्थान पर हूं जहां मैं आगे बढ़ चुका हूं। कई लोग हैं जिन्हें लगता है कि मुझे अब भी खेलना चाहिए लेकिन मेरे परिवार और बाकी चीजों की वजह से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मेरे लिए थोड़ा ज्यादा हो गया था। आपको अपने आप को जवाब देना होगा, अपने आप को आईने में देखना होगा और मैंने यही किया है। अपने परिवार को खुश करना सबसे अहम है।”

संन्यास के बाद की जिंदगी के बारे में बात करते हुए डिविलियर्स ने कहा, “मैं निश्चित रूप से अपने जीवन के सर्वश्रेष्ठ स्थान पर हूं। जब आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेलेते हैं तो कम दबाव होता है। दबाव अब भी है लेकिन कम है। मैं अपने क्रिकेट का ज्यादा आनंद ले रहा हूं और दो-तीन महीने का ब्रेक लेकर घर जाना काफी अच्छा है।”