Adam Gilchrist: Indian batsmen need to support Virat Kohli to win Test series in Australia
Virat Kohli (File Photo) © Getty Images

टी-20 सीरीज 1-1 से बराबरी पर खत्‍म होने के बाद अब क्रिकेट फैन्‍स को मोस्‍ट अवेटिड टेस्‍ट सीरीज का इंतजार है। छह दिसंबर से एडिलेड में पहले टेस्‍ट के साथ चार मैचों की टेस्‍ट सीरीज की शुरुआत होगी। इंग्‍लैंड में शानदार प्रदर्शन के बाद अब फैन्‍स को विराट कोहली से ऑस्‍ट्रेलिया में भी अच्‍छे प्रदर्शन की उम्‍मीद है। ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व विस्‍फोटक बल्‍लेबाज एडम गिलक्रिस्ट को उम्मीद है कि विराट कोहली 2014-15 टेस्ट सीरीज के प्रदर्शन को इस बार भी दोहराने में सफल रहेंगे लेकिन अगर भारत को बोर्डर-गावस्कर ट्राफी जीतनी है तो अन्य बल्लेबाजों को भी कप्‍तान का साथ देना होगा।

एडिलेट टेस्‍ट की दोनों पारियों में विराट ने लगाए थे शतक

पिछले दौरे पर भारत को एडिलेड टेस्‍ट में भारत को हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन विराट ने दोनों पारियों में शतक जड़ा था। गिलक्रिस्ट ने पीटीआई को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि विराट कोहली 2014 (चार टेस्ट में 86 .50 के औसत से 694 रन) की तरह एक बार फिर शानदार प्रदर्शन करेगा। पिछले कुछ दिनों में मैंने उसके साथ बात की है, उसका आत्मविश्वास देखा है और सिडनी में उसने जिस तरह बल्लेबाजी की उसे देखते हुए अगर वो ऐसा नहीं कर पाता है तो मुझे बेहद हैरानी होगी।’’

ऑस्ट्रेलिया को बनाए रखना होगा धैर्य

एडम गिलक्रिस्‍ट ने कहा, ‘‘भारत के ये सीरीज जीतने के लिए हालांकि सबसे अहम उसके साथ खेलने वाले बल्लेबाज होंगे। क्या वो उसका पर्याप्त समर्थन कर पाएंगे जिससे कि भारत पर्याप्त रन बना सके और अपने अच्छे गेंदबाजी आक्रमण को रनों का बचाव करने और ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट में दो बार आउट कर पाएं।’’

यह पूछने पर कि क्या ऑस्ट्रेलिया की कोहली को रोकने के लिए कोई विशेष रणनीति है, गिलक्रिस्ट ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि मैं किसी योजना के बारे में बता पाऊंगा क्योंकि मुझे नहीं पता। ऑस्ट्रेलिया धैर्य रखना होगा। उन्हें अच्छा परंपरागत टेस्ट क्रिकेट खेलना होगा। उनकी सर्वश्रेष्ठ उम्मीद यही होगी कि भारत शुरुआती झटके दें और कोहली को नई गेंद से गेंदबाजी करें।’’

भारत सीरीज जीत का प्रबल दावेदार

गिलक्रिस्ट ने स्वीकार किया कि भारत प्रबल दावेदार के रूप में शुरुआत करेगा लेकिन साथ ही कहा कि ऑस्ट्रेलिया को अपने हालात में दबदबा बनाने में अधिक समय नहीं लगेगा। उन्होंने कहा, ‘‘भारत इस टेस्ट सीरीज में प्रबल दावेदार के रूप में शुरुआत करेगा और ऐसा मुख्य रूप से इसलिए होगा क्योंकि वे अपने टीम संयोजन से अच्छी तरह वाकिफ हैं। उन्हें बेहद अच्छी समझ है कि वो किस संयोजन के साथ खेलना चाहते हैं।’’

गिलक्रिस्ट ने कहा, ‘‘शायद एक या दो स्थानों के लिए दावा होगा लेकिन इसके अलावा उनकी अंतिम एकादश लगभग तय है। मुझे लगता है कि भारत के पास स्थिर टेस्ट टीम है। जबकि अगर आप ऑस्ट्रेलिया को देखो तो मुझे नहीं लगता कि उनके चयनकर्ता सुनिश्चित हैं कि वे किस क्रम या टीम संतुलन के साथ खेलना चाहते हैं। यह ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट का नया चरण है।’’

गिलक्रिस्ट ने कहा कि दोनों टीमों के गेंदबाजी आक्रमण में अधिक अंतर नहीं है लेकिन यह बल्लेबाजी क्रम है जो अंतर पैदा करेगा। ‘‘मुझे लगता है कि कोई भी टीम सीरीज जीत सकती है। अपने हालात में आत्मविश्वास हासिल करने और सीरीज में दबदबा बनाने में ऑस्ट्रेलिया को अधिक समय नहीं लगेगा। हम अतीत में ऐसा होते हुए देख चुके हैं।’’

गिलक्रिस्ट ने कहा, ‘‘दोनों टीमों का गेंदबाजी आक्रमण शीर्ष स्तर का है इसलिए यह इस पर निर्भर करेगा कि कौन सा बल्लेबाज क्रम बिखरने से बच पाएगा। कोहली ने भारत के इंग्लैंड दौरे की बात की और कहा कि जब उन्होंने खराब किया तो बेहद खराब प्रदर्शन किया और इसलिए हार गए। भारत ने दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में सिर्फ टुकड़ों में अच्छी बल्लेबाजी की। वे प्रबल दावेदार हैं लेकिन उन्हें स्वयं के साथ ईमानदार होना होगा।’’

‘भारत दौरे पर स्मिथ-वार्नर की भरपाई ऑस्‍ट्रेलिया नहीं कर सकता

गिलक्रिस्ट ने कहा कि स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर की गैरमौजूदगी में सीरीज की चमक कुछ फीकी हो चुकी है। मार्च में दक्षिण अफ्रीका में बॉल टैंपरिंग मामले के कारण इन दोनों को एक साल का प्रतिबंध झेलना पड़ रहा है। इन दोनों की कमी की भरपाई ऑस्ट्रेलिया किसी तरह से नहीं कर सकता।

उन्होंने कहा, ‘‘स्मिथ और वार्नर ने पिछले कुछ वर्षों में ऑस्ट्रेलिया के रनों में बड़ा योगदान दिया है और यह बड़ा नुकसान है, इसमें कोई शक नहीं। निश्चित तौर पर उन्हें उनकी कमी खलेगी, विशेषकर स्मिथ की क्योंकि वह कोहली के स्तर का खिलाड़ी है।’’ गिलक्रिस्ट ने साथ ही कहा कि कैमरन बैनक्रॉफ्ट के निलंबन का भी घरेलू टीम को नुकसान होगा।