Adam Zampa: Playing Test cricket is still the ultimate goal
एडम जम्पा (IANS)

ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर एडम जम्पा ने बैगी ग्रीन पहनने का अपना सपना नहीं छोड़ा है। सीमित ओवर फॉर्मेट में ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए मैचविनिंग प्रदर्शन करने वाले जम्पा टेस्ट टीम में जगह बनाना चाहते हैं। फिलहाल टेस्ट टीम में स्पिन गेंदबाज की जगह पर दिग्गज नाथन लियोन का कब्जा है, ऐसे में जम्पा के लिए क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट में अपनी पहचान बनाना मुश्किल होगा।

क्रिकेट डॉट कॉम डॉय एयू वेबसाइट ने इस ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर के हवाले से लिखा, “टेस्ट क्रिकेट खेलना ही आखिरी लक्ष्य है। पिछले कुछ सालों में मुझे सीमित ओवर फॉर्मेट गेंदबाज को तौर पर पहचानना आसान हो गया है, मैंने पिछले 3-4 सालों में मैंने ऑस्ट्रेलिया के लिए व्हाइट बॉल क्रिकेट खेला है, इसलिए मुझे प्रथम श्रेणी क्रिकेट में कम मौके मिलते हैं। मैं लोगों की धारणा को बदलना चाहता हूं।”

जम्पा ने कहा, “मेरा प्रथम श्रेणी रिकॉर्ड बहुत खास नहीं है लेकिन मुझे लगता है कि पिछले तीन सालों में, जब मैं प्रथम श्रेणी क्रिकेट नहीं खेल रहा था, इस दौरान बतौर गेंदबाज मुझसे काफी सुधार आया है। मैं अब भी बैगी ग्रीन हासिल करने की कोशिश में हूं, वही मेरा आखिरी लक्ष्य है।”

जब डॉक्टर्स ने बोल दिया था कि कभी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे जोफ्रा आर्चर

टेस्ट टीम में जगह बनाने के जम्पा के सपने के बीच सबसे बड़ी मुश्किल हैं- नाथन लियोन। जम्पा भी मानते हैं कि इस दिग्गज खिलाड़ी के रहते लिए चयनकर्ताओं की नजर में खुद को टेस्ट टीम के लिए दावेदारी रखना भी मुश्किल है। जम्पा ने कहा, “आप बेवकूफ होंगे जो ये सोचेंगे कि इस समय ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम में मुझे एक स्पिनर के रूप में मौका भी मिलेगा।”

उन्होंने कहा, “वो मेरा सबसे अहम लक्ष्य है। पहले मैं कुछ प्रथम श्रेणी क्रिकेट मैच खेलना चाहूंगा लेकिन मुझे लगता है कि जिस तरह से मैंने पिछले कुछ सालों में मैंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने प्रदर्शन में सुधार किया है वो मददगार होगा। मेरे लिए पिछले 12 महीने काफी अच्छे रहे हैं और मुझे लगता है कि मैंने अच्छा प्रदर्शन किया। मेरा लक्ष्य अब भी टेस्ट क्रिकेट खेलना ही है।”

ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर ने आगे कहा, “मुझे रेड बॉल के खेलने का ज्यादा समय नहीं मिला है। उपमहाद्वीप दौरे पर आपके पास मिशेल स्पीसन जैसे गेंदबाज हैं जो कि अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं और शील्ड क्रिकेट खेल रहे हैं, आपके पास एश्टन एगर जैसे खिलाड़ी हैं जिसके पास अनुभव है। और फिर जॉन हॉलैंड जो कि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में हावी हैं। मुझे केवल अपने मौकों का इंतजार करना होगा और मेरे अंतरराष्ट्रीय अनुभव को मेरा प्रतिनिधित्व करने देना होगा।”