भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) की क्रिट पर ब्रांड के नाम की स्‍पॉन्‍सरशिप के लिए भारत की दो बड़ी कंपनियों में होड़ लगी हुई है. एडिडास और प्‍यूमा हर कीमत  पर टीम इंडिया की किट (Team India Kit Sponsorship) पर अपने ब्रांड का नाम लिखवाना चाहते हैं. बीसीसीआई दोनों कंपिनयों से चर्चा कर अधिक मुनाफे वाली डील करने की जुगत में लगा है.

आगामी सितंबर में नाइकी का बीसीसीआई के साथ करार खत्‍म हो रहा है. बीसीसीआई और नाइकी के बीच करार बीते 14 सालों से चला आ रहा था. अब बीसीसीआई को किट स्‍पॉन्‍स‍रशिप के लिए नए साझेदार की तलाश है.

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस को बताया कि एडिडास और प्‍यूमा ने भारतीय टीम की किट स्‍पांसरशिप के लिए दिलचस्‍पी दिखाई है. पूरी प्रक्रिया परदर्शी होगी. जो भी डील इस संबंध में की जाएगी वो भारतीय क्रिकेट के हित में ही होगी.

बताया गया कि 2016 में नाइकी का आखिरी बार करार बढ़ाया गया था. तब ये कंपनी प्रत्‍येक मैच के लिए  87.84 लाख रुपये देने को तैयार हो गई थी. कोरोना वायरस के कारण खराब हुई मार्केट की स्थिति को देखते हुए नाइकी अब अपने करार को बढ़ाने में ज्‍यादा दिलचस्‍पी नहीं दिखा रहा है. ऐसे में बीसीसीआई के सामने प्‍यूमा और एडिडास जैसी कंपनिया क्रिट स्‍पॉन्‍सरशिप के लिए आगे आई हैं.

अधिकारी ने कहा, “अनुबंध खत्‍म होने के बाद बीसीसीआई टेंडर की प्रक्रिया शुरू करेगा. इसी बीच अगर नाइकी अपने अनुबंध को पहले वाली दर पर ही आगे बढ़ाना चाहता है तो उसपर बीसीसीआई विचार कर सकता है.”