Adelaide win brought back memories of 2003 says Sachin Tendulkar

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने सोमवार को कहा कि एडीलेड में भारत की ऑस्ट्रेलिया पर 31 रन की जीत ने उन्हें इस मैदान पर 2003 में राहुल द्रविड़ और अजित अगरकर के शानदार प्रदर्शन से हासिल की गयी जीत की याद दिला दी। भारतीय टीम ने इस करीबी मुकाबले को 31 रन से जीत कर चार मैचों की श्रृंखला में 1-0 की बढ़त कायम की। ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर भारत के लिए टेस्ट मैचों में यह छठी जीत है।

तेंदुलकर ने ट्वीट किया, ‘‘ सीरीज शुरू करने का शानदार तरीका। भारतीय टीम ने कभी भी दबाव कम नहीं होने दिया। चेतेश्वर पुजारा की दोनों पारियों और अजिंक्य रहाणे की दूसरी पारी में अहम और बेहतरीन बल्लेबाजी के साथ चारों गेंदबाजों ने दमदार योगदान दिया। इसने 2003 की जीत की यादें ताजा कर दी।’’

इस मैच के मैन ऑफ द मैच चेतेश्वर पुजार भी इस जीत से खुश हैं।

पुजारा ने ट्वीट किया, ‘‘एडीलेड ओवल में हमारे लिए पहला टेस्ट मैच शानदार रहा। आपकी शुभकामनाओं के लिए शुक्रिया। जिस तरह से हम टीम के तौर पर खेले और कड़ी टक्कर दी उससे काफी खुश हूं। अब अगले मैच की तैयारी।’’

मैच के खत्म होते ही ट्विटर पर भारतीय टीम को बधाई देने वालों का तांता लग गया जिसमें प्रशंसकों के साथ पूर्व क्रिकेटर भी शामिल थे।

पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा, ‘‘ टेस्ट क्रिकेट सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट है। ऑस्ट्रेलिया ने कड़ी टक्कर दी लेकिन आखिर में भारतीय टीम बेहतर साबित हुई। पहली पारी में 41 रन पर चार विकेट खोने के बाद जीतना विशेष प्रयास है। पुजारा के लिए शानदार टेस्ट मैच और गेंदबाजों का बेहतरीन प्रयास। यह सीरीज शानदार होगी।’’

वीवीएस लक्ष्मण ने ऑस्ट्रेलिया के निचले क्रम के बल्लेबाजों की तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘‘ पुछल्ले बल्लेबाजों ने गजब का जुझारूपन दिखाया लेकन यह क्षण भारत को लंबे समय तक याद रहेगा। गेंदबाजों ने अपना सब कुछ दिया। इस पल का लुत्फ उठायें और इस लय को पर्थ टेस्ट में कायम रखें।’’