अफगानिस्तान क्रिकेट टीम © Getty Images
अफगानिस्तान क्रिकेट टीम © Getty Images

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) और अफगानिस्तान क्रिकेट (एसीबी) के रिश्ते खटाई में पड़ते नजर आ रहे हैं। हाल ही में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने एक बयान जारी कर अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सामने मांग रखी थी कि पाकिस्तान अफगानिस्तान के साथ क्रिकेट खेलने को तभी राजी होगा जब अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड उनसे सार्वजनिक रूप से माफी मांग लेगा। इसपर अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने भी अपना पक्ष रखा है और माफी मांगने से साफ तौर पर इनकार कर दिया है। ये भी पढ़ें: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड से माफी मांगने को कहा, वजह है बड़ी

पाकिस्तान की मांग पर अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अधिकारी ने कहा, ”पाकिस्तान समेत दुनियाभर के क्रिकेट बोर्ड के साथ हमारे रिश्ते परस्पर आदर पर टिके हैं। सम्मान दोनों तरफ से होना चाहिए और इसलिए हमें ऐसा कुछ नजर नहीं आता कि हम इसके लिए किसी से माफी मांगे।” आपको बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने कहा था, ”एसीबी के चेयरमैन एक दिन मुझसे मिले, उस समय वो दोनों देशों के आपसी रिश्तों को लेकर काफी सकारात्मक थे लेकिन अगले ही दिन उन्होंने पाकिस्तान को लेकर इस तरह का राजनैतिक बयान दे दिया। इसलिए अब हमारा उनसे कोई संबंध नहीं है। हालांकि बाद में उन्होंने इस फैसले को लेकर पछतावा जताया था और निजी रूप से माफी भी मांगी थी लेकिन बोर्ड बिना सार्वजनिक माफी के उनके साथ क्रिकेट नहीं खेलेगा।”

दरअसल, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच जुलाई-अगस्त में टी20I सीरीज खेलने पर समझौता हुआ था लेकिन 31 मई को अफगानिस्तान में धमाके हुए थे। इस धमाके 80 लोगों की मौत हो गई थी। धमाके के बाद अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलने से इनकार कर दिया था और बोर्ड ने कहा था ”मैत्रीपूर्ण मैचों और आपसी रिश्तों का कोई समझौता एक ऐसे देश के साथ मान्य नहीं है जहां आतंकवादियों को पनाह दी जाती है।”