इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) भी ऑस्ट्रेलिया में अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) की कप्तानी से प्रभावित हुए हैं. लेकिन अब टीम इंडिया के नियमित कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के हाथ भारतीय टीम की कमान वापस आ गई है. टीम इंडिया इंग्लैंड के खिलाफ 4 टेस्ट मैच की सीरीज का शुक्रवार से चेन्नई में आगाज करेगी.

इस सीरीज की शुरुआत से पहले इंग्लैंड के इस पूर्व दिग्गज खिलाड़ी ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में भारत को शानदार जीत दिलाने वाले अंजिक्य रहाणे से विराट कोहली का कप्तानी का जिम्मा लेना एक ‘रोचक कहानी’ की तरह है. उन्होंने कहा कि आगामी टेस्ट सीरीज में इस मसले पर चर्चा भी खूब होगी. पीटरसन स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में इस महत्वपूर्ण सीरीज से पहले दोनों टीमों के खेल का विश्लेषण कर रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘कोहली, एंडरसन, रहाणे कैसा प्रदर्शन करेंगे, यह देखना होगा. ऑस्ट्रेलिया में रहाणे के द्वारा टीम का नेतृत्व करने के बाद कोहली फिर से वापस आ गए हैं. कैसा सामंजस्य बैठेगा? यह एक बहुत ही दिलचस्प चर्चा होने जा रही है. इस सीरीज के दौरान इस बारे में काफी बातें होगी.’

उन्होंने कहा, ‘इंग्लैंड की टीम में जोफ्रा आर्चर है, क्या वह पुजारा को आउट कर पाएंगे? बुमराह भी वापस आ गए हैं.’ 40 वर्षीय पीटरसन ने कहा, ‘इस टेस्ट सीरीज में बहुत सारी अलग-अलग संभावनाएं हो सकती हैं, लेकिन मुझे लगता है कि इस सीरीज के दौरान एक बहुत ही दिलचस्प कहानी चलने वाली है. ऑस्ट्रेलिया में रहाणे द्वारा शानदार कप्तानी के बाद कोहली की इस भूमिका में वापसी के मुद्दे पर काफी चर्चा होगी.’

इंग्लैंड के लिए 9 साल तक इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने वाले इस पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने कहा कि उन्हें यह मानने में कोई झिझक नहीं है भारत इस सीरीज को जीतने का 100 प्रतिशत दावेदार है. इसमें इंग्लैंड की रोटेशन नीति की भी भूमिका होगी, जिसमें मुख्य खिलाड़ियों को आराम दिया जाएगा.

उन्होंने कहा, ‘टीम इंडिया को घरेलू माहौल का फायदा मिलेगा. इंग्लैंड ने पहले दो टेस्ट मैचों के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम नहीं चुनी है. मुझे लगता है कि जॉनी बेयरस्टो को यहां होना चाहिए था. भारत यहां जीत का दावेदार है और वह 100 फीसदी दावेदार है.’