After losing first game against West Indies game, it was almost impossible to get back on net run rate, says Mickey Arthur
मिकी ऑर्थर © Getty Images

बांग्लादेश के खिलाफ आखिरी लीग मैच में शानदार जीत हासिल करने के बावजूद आईसीसी विश्व कप 2019 से बाहर हुई पाकिस्तान टीम के कोच मिकी ऑर्थर ने टूर्नामेंट से बाहर होने पर निराशा जताई है।

पाकिस्तान को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए बांग्लादेश को रिकॉर्ड 300 से ज्यादा रन से हराना होता जो कि वनडे क्रिकेट इतिहास में आज तक नहीं हुआ है। 94 रन से मैच जीतने के बाद पाकिस्तान और न्यूजीलैंड टीम 11-11 अंक पर पहुंची और बेहतर रन रेट के दम पर कीवी टीम सेमीफाइनल में पहुंच गई।

ऑर्थर ने इसके लिए वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले लीग मैच में मिली हार को जिम्मेदार ठहराया। पाकिस्तान अपने पहले लीग मैच में 105 के स्कोर पर ऑलआउट होने के बाद 7 विकेट से मैच हार गया था। जिसके बाद इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड जैसी टीमों को हराने के बाद भी उनके रन रेट में सुधार नहीं हुआ।

‘कोलपैक डील-टी20 सर्किट दक्षिण अफ्रीका के लिए बड़ी चिंता का विषय’

इस पर पाक कोच ने कहा, “अगर हम पीछे जाएं तो, वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच, टूर्नामेंट का हमारा पहला मैच हम जिस तरह से हारे, उसके बाद रन रेट सुधारना लगभग असंभव था, जो कि निराशाजनक था।”

कोच आर्थर ने माना कि बांग्लादेश के खिलाफ मैच में टीम 400 का स्कोर बनाने के विचार के साथ उतरी थी। उन्होंने कहा, “मैं झूठ बोलूंगा अगर मैं ये कहूं कि हमने इस बारे में चर्चा नहीं की। हमने टॉस जीता जो कि अच्छी शुरुआत थी, 400 रन बनाना एक प्लेटफॉर्मे था। आउट होकर पवेलियन लौटने पर फखर ने हमें बताया कि पिच धीमी है और स्कोर करना मुश्किल होगा।”

आईसीसी के ट्वीट पर भड़के पाक फैंस, लगाया साजिश का आरोप

हालांकि पाकिस्तान ने इमाम उक हक (100) और बाबर आजम (96) की शानदार पारियों के दम पर 9 विकेट खोकर 315 रन बनाए। किसी और मैच के लिए शायद से बेहतरीन स्कोर होता लेकिन सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए ये पर्याप्त नहीं था।