भारतीय टीम के पूर्व कप्‍तान और मौजूदा वक्‍त में बीसीसीआई चेयरमैन सौरव गांगुली को हल्‍का दिल का दौरा पड़ने के बाद फॉर्च्यून कुकिंग ऑयल कंपनी ने दादा से जुड़े अपने सभी विज्ञापनों को हटा दिया है. दादा की बीमारी के बावजूद लगातार आ रहे विज्ञापनों के चलते कंपनी को फैन्‍स सोशल मीडिया पर खूब ट्रोल कर रहे थे.

फॉच्‍यून की मुख्‍य कंपनी अडानी विलमार लिमिटेड है. कंपनी अपने उत्‍पाद को दिल के लिए अच्‍छा बताते हुए सौरव गांगुली के साथ ‘दादा बोले वेल्‍कम टू 40s’ के साथ दिखाती आ रही है. सौरव इस विज्ञापन में लोगों से पूछते हैं कि क्‍या 40 के बाद आप जीना छोड़ देते हैं ?

इकॉनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी ने सभी प्‍लेटफॉर्म से सौरव गांगुली के साथ बनाए गए विज्ञापन हटा दिए हैं. विज्ञापन एजेंसी फिलहाल डैमेज कंट्रोल में जुटी है और इस संबंध में नया कैम्‍पेन चलाने की तैयारी में है.

अडानी विलमार लिमिटेड के कंपनी के सीईओ अंगशु मलिक ने कहा, “हमारा राइस-ब्रेन ऑयल दुनिया का सबसे बेस्‍ट ऑयल है. ये बैड कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करत है. सौरव गांगुली हमारे ब्रांड अंबेस्‍डर बने और फॉर्च्‍यून राइस का विज्ञापन किया. कई अन्‍य कारण भी दिल से संबंधिम बीमारियों का कारण बनते हैं. सौरव गांगुली आगे भी हमारे साथ ऐसे ही जुड़े रहेंगे.”

सौरव गांगुली की अब स्थिति खतरे से बाहर बताई जा रही है. उन्‍हें अस्‍पताल में मिलने वालों का तांता लगा हुआ है. माना जा रहा है कि एक दो दिनों में दादा को अस्‍पताल से छुट्टी मिल सकती है.