After World cup glory Ashes victory will be even bigger for us, says Joe Root
Joe Root with Adil Rashid @ AFP

चार दशक से अधिक समय बाद विश्व विजेता का तमगा हासिल करने वाली इंग्लैंड की नजरें अब उसके लिए बेहद अहम एशेज सीरीज पर हैं। इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट को लगता है कि उनकी टीम एशेज सीरीज जीत एक ही साल में दो बड़ी ट्रॉफी उठा क्रिकेट में बड़ी उपलब्धि हासिल करने का दम रखती है।

मेजबान इंग्लैंड ने बेहद नाटकीय फाइनल में न्यूजीलैंड को बाउंड्री के आधार पर मात दे विश्व कप का खिताब अपने नाम किया। अब विश्व विजेता का ध्यान एक अगस्त से ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शुरू हो रही एशेज सीरीज पर है।

बीबीसी ने सोमवार को रूट के हवाले से लिखा है, “यह वही है जो हमने दो-तीन साल पहले से करने के बारे में सोचा है और हम आधा रास्ता तय कर चुके हैं। हम इससे बेहतर स्थिति में नहीं हो सकते। हमने जो हासिल किया है उससे खिलाड़ियों को आत्मविश्वास मिला है और हमने इसे आगे ले जाने की बात की है।”

रूट ने कहा, “एजबेस्टन में सेमीफाइनल में जब हम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जिस तरह से खेले.. जो खिलाड़ी वहां थे उन्होंने इसका लुत्फ उठाया और वह अब उससे ज्यादा चाहते हैं। संभवत: उसी तरह एक और बार महसूस करना बेहद उत्साहित करने वाली बात होगी। एशेज क्रिकेट की हमेशा से अलग बात रही है इसलिए यह खिलाड़ियों को अलग एहसास देगा।” 28 साल के रूट ने कहा, “यह हमेशा से विशेष रहा है।”

पढ़ें:- न्‍यूजीलैंड के विश्‍व चैंपियन नहीं बन पाने पर विटोरी बोले..

रूट ने 2005 में जीती गई एशेज के बारे में बात की जिसकी तुलना इस बार की विश्व कप जीत से की जा रही है। 2005 में इंग्लैंड ने 1986-87 के बाद एशेज सीरीज जीती थी। रूट ने कहा, “2005 में मैं 14 साल का था और वो मेरे लिए काफी प्रेरित करने वाली बात थी। उम्मीद है कि हम ऐसा दोबारा कर सकेंगे।”