© IANS
© IANS

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के कानूनी दांव-पेच में फंसे होने के बावजूद आईपीएल के प्रसारण अधिकारों में दिलचस्पी दिखाने वालों की कोई कमी नहीं आयी है और अब दूरसंचार कंपनी एयरटेल और इंटरनेट सेवा प्रदाता याहू ने भी प्रसारण अधिकार से जुड़ी बोली दस्तावेज खरीदे हैं। सूत्रों से पता चला है कि डिस्कवरी और यूप्प टीवी ने भी कुछ दिन पहले बोली दस्तावेज खरीदे थे। इस तरह से अब तक कुल 24 कंपनियों ने बोली दस्तावेज में रुचि दिखायी है।

नाम नहीं छपने की शर्त पर बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई से बताया कि, ‘‘हां, एयरटेल और याहू के अलावा बीएएमटेक, पर्फोर्म ग्रुप से जुड़ी डीएजेडएन जैसी डिजिटल कंपनियों ने भी बोली दस्तावेज खरीदें हैं।’’ उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष 18 कंपनियों ने बोली दस्तावेज खरीदा था लेकिन प्रक्रिया रुक जाने के कारण उनके दस्तावेज को नहीं देखा जा सका था।

इन कंपनियों में स्टार इंडिया, अमेजन सेलर सर्विस, फॉलोऑन इंटरेक्टिव मीडिया, ताज टीवी इंडिया, सोनी पिक्चर्स नेटवर्क, टाइम्स इंटरनेट, सुपरस्पोर्ट इंटरनेश्नल, रिलायंस जियो डिजिटल, गल्फ डीटीएच एफजेड एलएलसी, ट्विटर, फेसबुक इंक. भी शामिल हैं। सभी अधिकार 2018-2022 तक पांच वर्षों के लिये मान्य रहेंगे। प्रसारण अधिकार को तीन विशेष श्रेणियों में बांटा गया है जिसमें टेलीविजन, मोबाईल और इंटरनेट शामिल हैं। सीलबंद लीफाफे में बोली जमा करने की आखिरी तिथि चार सितंबर है।  एम एस धोनी हैं दुनिया के सबसे बड़े ‘फिनिशर’, विराट कोहली को छोड़ा पीछे

अनुमान है कि चकाचौंध भरी इस लीग की टेलीविजन, मोबाईल और इंटरनेट प्रसारण के अधिकार से बीसीसीई को 20 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा मिलेंगे। टीवी प्रसारण अधिकार के लिये मुख्य मुकाबला स्टार इंडिया और सोनी पिक्चर्स नेटवर्क के बीच है।