Ajinkya Rahane: Hard to find player like Ravichandran Ashwin and Rohit Sharma sit out

लीड्स टेस्ट में सीनियर रविचंद्रन अश्विन और वनडे टीम के उप कप्तान रोहित शर्मा को ना खिलाए जाने के फैसले की आलोचना के बीच अजिंक्य रहाणे ने टीम मैनेजमेंट का बचाव किया है। टेस्ट टीम के उप कप्तान रहाणे का कहना है कि हालात के हिसाब से टीम कॉम्बिशन तैयार करने के लिए कड़े फैसले लेने होते हैं।

पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद मीडिया के सामने आए रहाणे ने कहा, “जब आप अश्विन जैसे खिलाड़ी को बाहर करते हैं तो ये मुश्किल होता है लेकिन टीम मैनेजमेंट हमेशा सर्वश्रेष्ठ कॉम्बिनेशन के बारे में सोचता है।

उन्होंने आगे कहा, “उन्हें (टीम मैनेजमेंट) लगा कि जडेजा इस विकेट पर अच्छा विकल्प हैं क्योंकि हमें छठें बल्लेबाज की जरूरत थी जो कि वास्तव में गेंदबाजी कर सकता हो। हनुमा विहारी इस ट्रैक पर गेंदबाजी कर सकता है। इसलिए कप्तान और कोच की बीच यही बात हुई होगी। अश्विन और रोहित जैसे खिलाड़ियों का बाहर बैठना हमेशा बुरा लगता है।”

रविचंद्रन अश्विन का प्लेइंग XI से बाहर होना हैरान करने वाला: गावस्कर

विहारी का चयन भारतीय टीम के लिए सकारात्मक रहा। 25 रन के स्कोर पर 3 विकेट खोने के बाद मुश्किल में आई टीम इंडिया को संभालने में विहारी ने उप कप्तान रहाणे की मदद की। उन्होंने 56 गेंदो पर 32 रन की पारी खेली। हालांकि विहारी खास बड़ा स्कोर नहीं बना पाए लेकिन रहाणे ने उनकी बल्लेबाजी के तरीके की तारीफ की।

इस ऑलराउंडर खिलाड़ी के बारे में रहाणे ने कहा, “विहारी ऐसा खिलाड़ी हैं जिसने रणजी ट्रॉफी और प्रथम श्रेणी क्रिकेट में काफी रन बनाए हैं और इस तरह के हालात में बल्लेबाजी करना जानता है। इसलिए ये सभी खिलाड़ी जो इंडिया ए के लिए काफी मैच खेलते हैं, पांच दिवसीय मैचों में बल्लेबाजी करना जानते हैं। इसलिए मुझे लगा कि उसका अप्रोच सही था, केवल यहीं नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया में भी।”