Ajinkya Rahane: It was hard to control Rishabh Pant during our partnership
Ajinkya Rahane and Rishabh Pant @ PTI

भारतीय टीम ने हैदराबाद टेस्‍ट में भले ही 10 विकेट से जीत दर्ज कर ली हो, लेकिन मैच के दूसरे दिन एक वक्‍त ऐसा भी आया जब वेस्‍टइंडीज के 311/10 के जवाब में टीम ने 102 रन के स्‍कोर पर ही अपने तीन विकेट गंवा दिए थे। 162 के स्‍कोर पर विराट कोहली 45(78) के रूप में भारत को चौथा झटका लगा। मैदान पर अजिंक्‍य रहाणे 80(183) और रिषभ पंत 92(134) ने साथ मिलकर 152 रन की साझेदारी बनाई। जिसकी मदद से भारत ने वेस्‍टइंडीज पर 56 रन की बढ़त बनाई।

मैच के बाद अजिंक्‍य रहाणे ने कहा, “रिषभ पंत आक्रमक क्रिकेट खेलने के लिए जाना जाता है। ऐसे में कई बार उसे काबू में कर पाना काफी मुश्किल हो जाता है। उसके साथ साझेदारी बनाकर मजा आया। मैं उसे कंट्रोल में करने का प्रयास करता रहा। हमें वेस्‍टइंडीज द्वारा बनाए स्‍कोर तक पहुंचने के लिए एक बड़ी साझेदारी की जरूरत थी। उसने अपनी आक्रमकता को अच्‍छे से काबू में रखा और अच्‍छी बल्‍लेबाजी की।”

रहाणे ने कहा, “मैं लंबे समय तक क्रीज पर बल्‍लेबाजी करना चाहता था। इस पारी ने सच में मेरी काफी मदद की। इस सीरीज में मेरी कोशिश थी कि मैं बल्‍लेबाजी के दौरान ज्‍यादा से ज्‍यादा समय बिताऊं। पूरी सीरीज में हमने अच्‍छा प्रदर्शन किया। जीत का श्रेय उमेश यादव को जाता है। उसने लाजवाब गेंदबाजी की।”

पिछले मैच की तरह इस बार भी रिषभ पंत अपने शतक से आठ रन से चूक गया। रिषभ पंत ने कहा, “मैं हमेशा से ही टेस्‍ट क्रिकेट खेलना चाहता था। मेरा अनुभव बेहतरीन रहा। टीम में साथियों ने काफी मदद की। बतौर क्रिकेटर मुझे अभी काफी कुछ सीखने की जरूरत है। मेरा लक्ष्‍य अपना स्‍वाभाविक क्रिकेट खेलना है।”