Ajinkya Rahane says he respect the decision of selectors after being dropped for T20I series vs Australia
अजिंक्य रहाणे © Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन टी20 मैचों की सीरीज के लिये भारतीय टीम में जगह नहीं पा सके अजिंक्य रहाणे ने पीटीआई से बातचीत में कहा कि वह टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ताओं के फैसले का सम्मान करते हैं। रहाणे ने कहा ,‘‘ टीम मैनेजमेंट और चयनकर्ताओं ने फैसला लिया है जिसका मैं सम्मान करता हूं। टीम में चयन के लिये प्रतियोगिता जरूरी है जिससे आपको सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की प्रेरणा मिलती है। जिसे भी मौका मिलता है उसने अच्छा प्रदर्शन किया है। मुझे हमेशा से प्रतियोगिता में मजा आता रहा है।’’ रहाणे ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज में लगातार चार अर्धशतक बनाये। रहाणे ने कहा कि वह अपने प्रदर्शन से खुश है।

उन्होंने कहा ,”हां मैं खुश हूं, मुझे जिम्मेदारी और मौका दिया गया था। मैने उसी तरह की बल्लेबाजी की, जिसकी मुझसे उम्मीद की गई थी। मैं अपने प्रदर्शन से खुश हूं। मैने रोहित के साथ तीन शतकीय साझोदारियां की और हमारा लक्ष्य टीम को अच्छी शुरूआत देना ही था।’’ हालांकि रहाणे को इस बात का अफसोस जरूर है कि वह शतक नहीं लगा सके। इस बारे में उन्होंने कहा ,‘‘मैं अर्धशतकों को शतक में बदल सकता था। भविष्य में मैं इन अर्धशतकों को शतकों में बदलने की कोशिश करूंगा।’’ [ये भी पढ़ें: कपिल देव से बेहतर वनडे ऑलराउंडर हैं हार्दिक पांड्या!]

टीम के प्रदर्शन पर खुशी जताते हुए रहाणे ने कहा ,‘‘ हमारे लिये यह गर्व का पल है। हमारा लक्ष्य 2019 विश्व कप है और हम उस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। हम हर सीरीज और मैच के लिए अलग रणनीति बनाएंगे। इस टीम का लक्ष्य हर मैच और सीरीज जीतना है।’’