Ajit Wadekar was the best left hand batsmen, I had played with: Erapalli Prasanna
AJIT WADEKAR ©IANS

विदेशी जमीन पर भारत को टेस्ट सीरीज जिताने वाले साहसिक कप्तान अजीत वाडेकर के निधन से क्रिकेट जगत शोक में है। खासतौर पर उनकी कप्तानी में खेलने वाले उनके साथी खिलाड़ियों के लिए ये खबर बेहद दुखद है।

अपने पूर्व साथी अजीत वाडेकर के निधन से आहत पूर्व ऑफ स्पिनर इरापल्ली प्रसन्ना का कहना है कि उन्होंने जितने भी खिलाड़ियों के साथ खेला उनमें से वाडेकर बाएं हाथ के सबसे शानदार बल्लेबाज थे। वाडेकर का बुधवार देर रात 77 साल की उम्र में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया।

प्रसन्ना ने आईएएनएस से फोन पर बातचीत में कहा, “मैं पूरी तरह से हैरान हूं। मैंने ये खबर सुबह सुनी और मुझे अभी तक इसका कारण नहीं पता है। मैं जितने भी बाएं हाथ के बल्लेबाजों के साथ खेला उनमें से अजीत सबसे शानदार थे।”

वाडेकर स्लिप के भी शानदार फील्डर थे। उन्हीं की कप्तानी में भारत ने 1971 में वेस्टइंडीज को वेस्टइंडीज में और इंग्लैंड को इंग्लैंड में मात दी थी। प्रसन्ना ने कहा, “वो रक्षात्मक कप्तान थे, लेकिन जब परिस्थति मांग करती थी तो वो इसके लिए तैयार रहते थे और शांति से अपना काम करते थे।”

वाडेकर ने मंसूर अली खान पटौदी के बाद भारतीय टीम की कप्तानी संभाली थी। वो बाद में 1992 में भारतीय टीम के कोच भी बने। प्रसन्ना ने कहा, “मैं उन्हें हमेशा एक महान कप्तान के और उस खिलाड़ी के तौर पर याद रखूंगा जो कभी हारना नहीं चाहता था। मुंबई का क्रिकेट हमेशा से ऐसा ही रहा है और वो उससे अलग नहीं थे। इसलिए वो रक्षात्मक थे, लेकिन जब स्थिति विपरित होती थी तो उन्हें पता था कि परिणाम कैसे निकालने हैं।”