Alastair Cook admits he has regrets over his handling of Kevin Pietersen’s England sacking
England captain Alastair Cook alongside Kevin Pietersen © Getty Images

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक ने भारत के खिलाफ सीरीज का पांचवां टेस्ट खेलने के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहना का फैसला किया है। कुक ने मीडिया से बात करते हुए पुरानी बातों का जिक्र किया। उनका कहना था कि पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन को टीम से बाहर किए जाने की घटना पर उनको अफसोस रहेगा।

एलिस्टर कुक ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि जिस तरह से केविन पीटरसन को टीम से बाहर किए जाने की घटना का निपटारा किया गया उसे दूसरे तरीके से भी निपटाया जा सकता था। साल 2014 में केविन पीटरसन को इंग्लैंड की टीम से बोर्ड से हुई अनबन के बाद बाहर किया गया था।

भारत से लॉर्ड्स में हार सबसे दुखत क्षण

इंग्लिश ओपनर ने कहा उनके जीवन का सबसे दुखत क्षण जिसके बाद वह काफी तकलीफ महसूस कर रहा था वो लॉर्ड्स में भारत के हाथों टेस्ट में मिली 95 रन की हार थी।

पीटरसन को टीम से बाहर करना साहसिक फैसला

एक इंटरव्यू में भी उन्होने पीटरसन को टीम से बाहर किए जाने को बड़ा साहसिक फैसला बताया था। उन्होंने कहा था उनके जैसे बड़े खिलाड़ी को टीम से बाहर निकालने के लिए वाकई बहुत हिम्मत की जरूरत थी।

एलिस्टर कुक के नाम इंग्लैंड क्रिकेट में सबसे ज्यादा टेस्ट मैच खेलने का रिकॉर्ड दर्ज है। वह टेस्ट में 10 हजार रन बनाने वाले पहले इंग्लिश बल्लेबाज बने। उनके नाम टेस्ट में 32 शतक हैं जो इंग्लिश क्रिकेट में रिकॉर्ड है।