Alastair Cook informed captain Joe Root before the game
Alastair Cook and Joe Root © Getty Images

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक ने अपने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास के बारे में टीम को कई बार इशारा दिया था। साउथम्पटन में टेस्ट सीरीज में भारत पर जीत पक्की करने के तुरंत बाद ही उन्होंने अपने संन्यास की घोषणा कर दी।

उन्होंने कहा, ‘‘यह कहना मुश्किल है लेकिन पिछले छह महीनो से मैंने ऐसे संकेत दे दिये थे। मैंने पिछले मैच से पहले कप्तान जो रूट से और मैच के दौरान कोच ट्रेवर बेलिस को इस बारे में बता दिया था। आज के दौर और इस उम्र में सब कुछ छुपा कर रखना काफी मुश्किल है। अगर सीरीज 2-2 से बराबरी पर होती तो मैं अपने फैसले को साझा नहीं करता।’’

कुक ने 59 टेस्ट और 92 एकदिवसीय में टीम में कप्तानी की है। जिसमें से उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में एशेज सीरीज में जीत (2010-10 में एंड्रयू स्ट्रॉस की कप्तानी में) के साथ अपनी कप्तानी में भारत में सीरीज जीत को करियर की सबसे बड़ी सफलता बताया।

उन्होंने कहा, ‘‘ विदेश में इन दोनों सीरीज में मैं मैन ऑफ द सीरीज था और हम भारत तथा ऑस्ट्रेलिया में जीते थे। मेरे करियर के दौरान यह सर्वश्रेष्ठ क्षण था। हां, मैं कभी भी सबसे प्रतिभाशाली क्रिकेटर नहीं रहा हूं लेकिन अपनी क्षमता से मैंने सबकुछ पाया है।’’

उन्होंने केविन पीटरसन के साथ विवाद पर खेद जताया क्योंकि उन्हें टीम से बाहर करने के फैसले में वह भी शामिल थे। उन्होंने कहा, ‘‘ निस्संदेह ऐसे प्रश्न हैं जिन पर आप सवाल करते हैं। स्पष्ट रूप से पीटरसन विवाद एक कठिन समय था, इसमें कोई संदेह नहीं है। उस फैसले से आयी गिरावट न तो इंग्लैंड क्रिकेट के लिए अच्छा थी न ही मेरे लिए।’’