एलिस्टर कुक और सचिन तेंदुलकर © AFP
एलिस्टर कुक और सचिन तेंदुलकर © AFP

टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भारत के सचिन तेंदुलकर के नाम है। सचिन के नाम 200 टेस्ट मैचों में 15,921 रन दर्ज हैं। जब सचिन ने यह रिकॉर्ड बनाया था तब माना गया था कि यह कई सालों तक नहीं टूटेगा। लेकिन अब सचिन तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड को चुनौतियां मिलना शुरू हो गई हैं। सचिन के इस रिकॉर्ड को चुनौती इंग्लैंड के स्टाइलिश बल्लेबाज एलिस्टर कुक दे रहे हैं। कुक जिस तरह से चमक हे हैं उसने सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को उनके रडार पर रख दिया है।

कुक ने हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ बर्मिंघम टेस्ट में अपने करियर का चौथा दोहरा शतक जड़ा और 243 रन बनाए। इसके साथ ही कुक के नाम 145 टेस्ट मैचों की 262 पारियों में 11,568 रन हो गए हैं। इस दौरान उन्होंने 31 शतक और 55 अर्धशतक लगाए हैं। कुक को सचिन का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए अभी 4,353 रनों की दरकार है। कुक की उम्र अभी 32 साल है वहीं वह पूरी तरह से चुस्त-दुरुस्त नजर आते हैं। अगर वह 5-6 साल और खेल गए तो वह जाहिरतौर पर सचिन का रिकॉर्ड तोड़ देंगे।

उसका एक कारण यह भी है कि इंग्लैंड टीम हर साल 11-12 टेस्ट मैच तो खेल ही लेती है। वैसे भारत के पूर्व क्रिकेट सुनील गावस्कर ने भी इस बात को स्वीकारा है कि अगर कुक 6-7 सालों तक क्रिकेट खेलते हैं तो वह सचिन तेंदुलकर के रनों का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं। वेस्टइंडीज के खिलाफ बर्मिंघम टेस्ट में कुक ने 243 रनों की पारी के दौरान कई कीर्तिमान अपने नाम किए। एलिस्टर कुक ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 9 से ज्यादा घंटों तक बल्लेबाजी की। एलिस्टर कुक ने छठी बार इतनी बड़ी पारी खेली है। [ये भी पढ़ें: इस दिग्गज ने कर दी भविष्यवाणी कहा, भारत 4-1 से जीतेगा वनडे सीरीज]

क्रिकेट इतिहास में सिर्फ राहुल द्रविड़ ही ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने एलिस्टर कुक से ज्यादा 7 बार 9 से ज्यादा घंटों तक बल्लेबाजी की है। एलिस्टर कुक के 243 रन पिछले 17 सालों में इंग्लैंड की ओर से पहली पारी में बतौर ओपनर खेली गई सबसे बड़ी इनिंग है। साल 1990 में ग्राहम गूच ने पहली पारी में बतौर ओपनर 333 रन की पारी खेली थी। ये कारनामा गूच ने टीम इंडिया के खिलाफ किया था।