गवर्निंग काउंसिल की बैठक के बाद यूएई में होने वाले आईपीएल 2020 की रूप रेखा अब पूरी तरह से तैयार हो गई है. हालांकि अभी भी सभी फ्रेंचाइजीज के लिए स्‍टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर जारी होना बाकी है. इसी बीच चेन्‍नई सुपर किंग्‍स की तरफ से कहा गया है कि उनके खिलाफ यूएई के लिए उड़ान भरने से पहले भारत में ही कोरोना वायरस का टेस्‍ट कराएंगे.

आईपीएल प्रशासन और फ्रेंचाइजियों के बीच बैठक इस सप्ताह होगी. सुपर किंग्स के एक अधिकारी ने न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस से कहा कि शीर्ष प्रबंधन रविवार को हुई बैठक के बाद से ही आईपीएल गर्वनिंग काउंसिल के संपर्क में है और उनसे कहा गया है कि आईपीएल टीमों के लिए एसओपी अगले कुछ दिनों में उन्हें दे दी जाएगी.

सुपर किंग्स के सबसे पहले संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) जाने की उम्मीद है, लेकिन जीसी ने साफ कर दिया है कि टीमें 20 अगस्त के बाद ही यूएई जा सकेंगी. अधिकारी ने कहा कि प्रोटोकॉल तोड़ने का सवाल ही नहीं है, और सुपर किंग्स फिर भी सबसे पहले यूएई जाने की कोशिश करेगी.

“नियमों को तोड़ने का कोई सवाल नहीं है. लेकिन हम फिर भी सबसे पहले वहां जाने के बारे में सोच रहे हैं, 20 अगस्त से पहले नहीं.हमें यह भी फैसला लेना कि यूएई जाने से पहले क्या हम एक छोटा कैम्प लगा पाएंगे या नहीं, यह फैसला बोर्ड के साथ होने वाली बैठक के बाद लिया जाएगा. भारत में कैम्प लगाने की संभावना हालांकि कम है.”

खिलाड़ी कैसे आएंगे और किस तरह से टेस्टिंग की जाएगी? इस पर अधिकारी ने कहा कि टीम के खिलाड़ी कोरोनावायरस टेस्ट कराएंगे और फिर चेन्नई आएंगे और फिर 48 घंटे के भीतर यूएई के लिए उड़ान भरने की योजना है.

“धोनी और टीम के बाकी खिलाड़ी अपने टेस्ट कराकर ही चेन्नई में इकट्ठा होंगे और फिर हम अगले 48 घंटों में उड़ान भरने की कोशिश करेंगे. खिलाड़ियों को इकट्ठा करने के बाद जल्दी से जल्दी उड़ान भरने का है.”