All-rounders Stokes and Holder to lead from the front

8 जुलाई से शुरू होने वाले इंग्लैंड-वेस्टइंडीज सीरीज के दौरान विश्व के दो सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर बेन स्टोक्स और जेसन होल्डर अपनी अपनी टीमों की अगुवाई करेंगे। इस सीरीज के जरिए कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी होगी।

होल्डर टेस्ट ऑलराउंडर्स की रैंकिंग में पहले नंबर पर हैं जबकि स्टोक्स दूसरे स्थान पर। बल्ले के साथ दोनों खिलाड़ियों का औसत 30 है हालांकि गेंदबाजी में होल्डर (26.37) स्टोक्स (32.68) से आगे हैं।

28 साल के होल्डर के पास लंबे समय तक राष्ट्रीय टीम की अगुवाई करने का अनुभव है जबकि स्टोक्स पहली बार इंग्लैंड टीम की कमान संभालेंगे।

टेस्ट सीरीज के पहले मैच के लिए जो रूट की जगह ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को इंग्लैंड टीम का कप्तान बनाया गया है। अपने करियर के दौरान कई विवादों का हिस्सा रहे स्टोक्स इंग्लिश टीम की कप्तानी मिलने पर गर्व महसूस कर रहे हैं।

दरअसल 2018 में स्टोक्स पर ब्रिस्टल के एक नाइट क्लब के बाहर झगड़ा करने का आरोप लगा था। हालांकि ट्रायल के दौरान स्टोक्स निर्दोष पाया गया था इसके बावजूद माना जा रहा था कि इस ऑलराउंडर के इंग्लैंड टीम का कप्तान बनने की सारी संभावनाएं खत्म हो गई हैं।

‘पेसर केमार रोच आसानी से 300 विकेट हासिल कर सकते हैं

इस पर स्टोक्स ने कहा, “मैं कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प के दम पर इस स्थिति में (इंग्लैंड के कप्तान बनने पर) काफी गर्व महसूस कर रहा हूं।”

मात्र 23 साल की उम्र में वेस्टइंडीज टीम के कप्तान बने होल्डर ने ऐसे समय में राष्ट्रीय टीम की कमान संभाली थी जबकि खिलाड़ियों और प्रशासन के बीच विवाद चल रहा था।

होल्डर ने इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज में दोहरा शतक लगाकर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया था।

इस दिग्गज ऑलराउंडर के बारे में कोच फिल सिमंस ने कहा, “उम्मीद है कि पहले टेस्ट में जेसन बेन को पछाड़ सकेगा। जेसन ने इतने टेस्ट मैच खेल लिए हैं कि उसे पता है कि वो क्या कर रहा और मानसिक तौर पर उसे क्या करना है।”

सिमंस ने आगे कहा, “मुझे लगता है कि बेन उनमें से एक है जो आगे से नेतृत्व करना पसंद करता है। क्रिकेट के मैदान पर किए उसके अब तक के कारनामों में भी यही बात झलकती है और हमें निश्चित करना होगा कि वो जल्दी आउट हो क्योंकि वो अपनी टीम के लिए हर जरूरी काम करना पसंद करता है।”