Alzarri Joseph looking to ‘stay consistent’ and ‘sticking to plans’ to get wickets in England
Alzarri Joseph

अल्जारी जोसफ को वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजी आक्रमण में सबसे कमजोर कड़ी माना जा रहा है लेकिन इस युवा तेज गेंदबाज का मानना है कि साथी तेज गेंदबाजों की तुलना में ‘अनजान’ होने के कारण उन्हें 8 जुलाई से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू हो रही टेस्ट श्रृंखला में फायदा हो सकता है।

कोरोना वायरस महामारी के बीच वेस्टइंडीज की टीम जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण में इंग्लैंड के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला खेलेगी।

भारतीय मूल के युवा स्पिनर को इंग्लैंड की ओर से डेब्यू का इंतजार

23 साल के जोसफ ने अब तक नौ टेस्ट मैच खेले है जबकि वह शेनन गैब्रिएल की अगुआई वाले तेज गेंदबाजी आक्रमण का हिस्सा हैं जिसमें केमार रोच और जेसन होल्डर भी शामिल हैं।

‘क्रिकबज’ ने जोसेफ के हवाले से कहा, ‘बेशक उन खिलाड़ियों के पास मेरे से अधिक अनुभव है। मैं अधिकतर सोचता हूं कि टीमें मुझे कमजोर कड़ी मानती हैं। मुझे लगता है कि मेरा काम उनक गेंदबाजों का समर्थन करना और दबाव बनाए रखना है।’

दायें हाथ के इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘ऐसा जरूरी नहीं कि यह आयु के कारण है, लेकिन यह मैचों की संख्या के कारण है जो मैंने बाकी तीनों गेंदबाजों की तुलना में खेले हैं।’

जोसफ ने हालांकि कहा कि उन्हें अनजान होने का फायदा मिल सकता है। उन्होंने कहा, ‘मैं इसका इस्तेमाल फायदे के लिए कर सकता हूं- मुझे अपनी क्षमता पता है और उन्हें शायद नहीं पता। लेकिन मुझे पता है कि मैं किसी भी विरोधी पर हावी हो सकता हूं।’

बकौल जोसफ, ‘मैं इस दौरे को टीम को रैंकिंग में ऊपर ले जाने में मदद करने के मौके के तौर पर देखता हूं। मुझे खेलने का मौका मिलता है तो मैं इसका फायदा उठाने का प्रयास करूंगा और कप्तान तथा टीम की जरूरत के अनुसार अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगा।’