Amar Virdi hopes to play for England
Amar Singh Virdi

इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच 8 जुलाई से 3 मैचों की टेस्ट सीरीज शुरू होगी। इस सीरीज को लेकर भारतीय मूल के युवा स्पिनर अमर विर्दी (Amar Virdi) बेहद उत्साहित हैं। विर्दी इंग्लैंड की 30 सदस्यीय ट्रेनिंग ग्रुप का हिस्सा हैं। वह इस ट्रेनिंग ग्रुप में स्पिनरों में सबसे कम अनुभवी हैं. उनका कहना है कि वह इस समय बहुत मेहनत कर रहे हैं ताकि उन्हें पहले टेस्ट के लिए प्लेइंग इलेवन में मौका मिल सके।

बकौल विर्दी, ‘ निश्चित रूप से मैं पहले टेस्ट मैच में खेलना चाहता हूं और टीम में शामिल होना चाहता हूं. अगर मैं ऐसा नहीं कर सका, तो शायद मुझे यहां नहीं होना चाहिए.’

महिला क्रिकेट को प्रचार और निवेश की जरूरत : शिखा पांडे

विर्दी ने प्रथम श्रेणी के 23 मैचों में अब तक 69 विकेट हासिल किए हैं और साथ ही वह सरे की उस टीम का हिस्सा थे, जिसने 2018 में काउंटी चैंपियनिशप जीती थी. विर्डी को हालांकि, इंग्लैंड की टीम में जगह बनाने के लिए मोईन अली, जैक लीच, डॉम बेस और मैट पार्किंसन में जैसे अनुभवी खिलाड़ियों से पार पाना होगा, जो इतना आसान नहीं होगा.

अमर वर्दी का पूरा नाम गुरामर सिंह विर्दी है, उनके परिवार का रिश्ता मूल रूप से भारत के पंजाब से है, लेकिन उनके मता पिता केन्या और युगांडा से आकर इंग्लैंड में बस गए. उनका परिवार खेलकूद से जुड़ा हुआ है.

विर्दी के पिता ने जूनियर टेनिस में केन्या को रिप्रेजेंट किया था. अमर को क्रिकेट से रूबरू उनके भाई ने कराया था. साल 2017 में उन्होंने सरे (Surrey) टीम से काउंटी चैंपियनशिप में डेब्यू किया था. अगर वो इंग्लैंड के टेस्ट टीम में चुने जाते हैं तो ऐसी उपलब्धि पाने वाले दूसरे सिख खिलाड़ी होंगे, इससे पहले मोंटी पनेसर इंग्लैंड के लिए खेल चुके हैं.