Andre Russell: No ground is big enough for me, I just trust my power
आंद्रे रसेल (BCCI)

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम के खिलाफ मैच में धमाकेदार बल्लेबाजी करने वाले कोलकाता नाइट राइडर्स के ऑलराउंडर आंद्र रसेल का मानना है कि कोई भी मैदान उनके लिए बड़ा नहीं है। रसेल ने बैंगलुरू के खिलाफ 13 गेंदो पर 48 रनों की विस्फोटक पारी खेली और कोलकाता को 5 विकेट से जीत दिलाई।

ये भी पढ़ें:  रसेल की एक और तूफानी पारी, कोहली के टीम की लगातार 5वीं हार

मैच के बाद रसेल ने कहा, “कोई भी मैदान शायद मेरे लिए बड़ा नहीं है, मैं अपनी ताकत पर भरोसा करता हूं। लो फुलटॉस गेंदो के लिए हाथ और आंखों का अच्छा मेल अहम होता है क्योंकि उन्हें हिट करना आसान नहीं होता। मैं शॉर्ट आर्म जैब खेलने की कोशिश करता हूं क्योंकि हाथ को ज्यादा बाहर निकालना आपको मुश्किल में डाल सकता है। ज्यादा समझा नहीं सकता, मैदान पर दिखाना ज्यादा पसंद करूंगा।”

चार विकेट गिरने के बाद कप्तान दिनेश कार्तिक के साथ बल्लेबाजी करने मैदान पर उतरे रसेल ने उस स्थिति के बारे में कहा, “जब मैं बल्लेबाजी करने उतरा तो आत्मविश्वास से भरा था। डीके मुझसे कह रहा था कि पिच का जायजा लेने के लिए एक-दो गेंद का समय ले लो। मैं डगआउट में बैठकर टीवी पर देख रहा था और मुझे अंदाजा था। ये हर रोज नहीं होता जब आपको करीब 20 गेंदो में 68 रनों की जरूरत होती हो। आपको अपना शरीर लाइन पर रखना होता है।”

ये भी पढ़ें: चिन्नास्वामी में चमके आंद्रे रसेल, बैंगलुरू की लगातार पांचवीं हार

रसेल ने आगे कहा, “टी20 फॉर्मेट का स्वभाव ही यही है कि मूमेंटम कभी भी बदल सकता है। इसी वजह से मैं कभी हार नहीं मानता। मेरे दिमाग का एक हिस्सा कह रहा था कि हमें बहुत ज्यादा रनों की जरूरत है लेकिन मैं लड़ना चाहता था और आखिर में हम पांच गेंद बाकी रहते जीत गए। लड़कों की तरफ से अच्छा समर्थन मिला और मैं अच्छे स्पेस में हूं इसलिए खुद को साबित कर पा रहा हूं।”