Andrew Strauss says he had sympathy for Kevin Pietersen over IPL
Kevin Pietersen © Twitter

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस (Andrew Strauss) का मानना है कि वह अपने टीम साथी केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) को सही से संभाल नहीं सके। स्ट्रॉस की कप्तानी के अंतिम महीने में पीटरसन का अपने साथियों और प्रबंधन के साथ संबंध अच्छे नहीं थे और फिर बाद में एलेस्टेयर कुक (Alastair Cook) को इंग्लैंड का कप्तान बना दिया गया था।

स्ट्रॉस ने स्काई स्पोर्ट्स पोडकास्ट से कहा, ” मैं केविन पीटरसन के साथ सही से काम नहीं कर सका। एक समय था जब टीम में उनके करीबी लोगों में से कुछ रिटायर हो गए थे या फिर टीम से बाहर हो गए थे। वहां एक मौका था। जरूरी नहीं कि उन्हें अंदर लाया जाए, लेकिन उनके साथ थोड़ा समय बिताया जाए और सुनिश्वित करें कि उनके विचारों को महत्व दिया जाए।”

पढ़ें:- ‘CWC 2011 फाइनल में धोनी मेरे कहने पर ही गंभीर के साथ नंबर-5 पर बल्‍लेबाजी के लिए आए थे’

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में खेलने को लेकर भी स्ट्रॉस और पीटरसन के बीच असहमति थी। स्ट्रॉस ने कहा, “आईपीएल में केपी के साथ मेरी हमेशा सहानुभूति रही। बाद में मुझे समझ में आया कि लीग में सभी बड़े खिलाड़ियों के खेलने की वजह क्या थी क्योंकि इसमें काफी पैसा था।”

….IPL के लिए हमें एक विंडो ढूंढना था

उन्होंने कहा, ” लंबे समय से मेरा मानना रहा था कि आईपीएल के लिए हमें एक विंडो ढूंढना था। मैंने ईसीबी को बताया कि आईपीएल में हम एक-दूसरे के खिलाफ नहीं खेल सकते क्योंकि इससे टीम के भीतर मनमुटाव होगा।”

पढ़ें:- टॉम मूडी की नजर में ये है टी20 का सबसे खतरनाक सलामी बल्‍लेबाज, बताई फेवरेट IPL टीम

पूर्व कप्तान ने कहा, “मैं उस समय केपी से कहा था कि आप अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में हो और इससे बाहर नहीं निकल सकते। आपको इंग्लैंड के लिए जिम्मेदारी निभानी है, लेकिन जब मैंने क्रिकेट निदेशक का पदभार संभाला तो मैंने कैलेंडर को देखा और सोचा कि क्या हम इसमें बदलाव कर सकते हैं ताकि हमारे खिलाड़ी आईपीएल में खेल सकें।”