अनिल कुंबले  © Getty Images
अनिल कुंबले © Getty Images

चैंपियंस ट्रॉफी 2017 के साथ ही टीम इंडिया के मौजूदा कोच अनिल कुंबले का कार्यकाल खत्म हो रहा है। चैंपियंस ट्रॉफी 18 जून को समाप्त हो रही है। इस टूर्नामेंट के लिए 5 दिन बाद यानि 23 जून से टीम इंडिया को वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज खेलनी है। ऐसे में बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना को लगता है कि नए कोच को दौरे के दौरान ज्वाइन कराने के लिए पर्याप्त समय नहीं है। इसलिए उन्होंने अनिल कुंबले को ही कोच बनाए जाने को लेकर अपनी मंशा जाहिर की है। बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारी राजीव शुक्ला ने बताया, “कार्यकारी अध्यक्ष ने वरिष्ठ सदस्यों से बातचीत की और हम सबकी राय है कि मामले को 26 जून को मुंबई में एसजीएम के सामने रखा जाए। तब तक किसी भी प्रकार की भर्ती न की जाए। ज्यादातर सदस्यों का एक ही मत है।”

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में एक बीसीसीआई अधिकारी ने बताया, “बीसीसीआई प्रेज़ीडेंट सीके खन्ना का कहना है कि चैंपियंस ट्रॉफी चल रही है, तो टीम इंडिया के कोच पर निर्णय लेना अभी सही नहीं होगा। चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल 18 जून को खत्म होगा। वहीं टीम इंडिया 20 जून को वेस्टइंडीज रवाना हो जाएगी। अगर उसी समय सीएसी टीम इंडिया के नए कोच का चुनाव करती है तो उस हिसाब से समय नहीं बचा है कि वह टीम इंडिया को ज्वाइन कर सकें। इसलिए यह बेहतर होगा अगर कुंबले के अनुबंध को एक सीरीज के लिए बढ़ा दिया जाए।”

यह पता चला है कि एक बार जब सीएसी कोच का चुनाव कर लेगी तो उसके बाद निर्णय को 26 जून को बीसीसीआई की स्पेशल जनरल मीटिंग में मंजूरी दी जाएगी। सीएसी के सदस्य सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर और वीवीएस लक्ष्मण हैं। ये भारत के श्रीलंका के मैच के बाद पहले सेशन की बैठक करेंगे। यह पता चला है कि खन्ना ने कुंबले का एक और सीरीज के लिए कॉन्ट्रेक्ट बढ़ाने को कहा है। टीम इंडिया को वेस्टइंडीज में पांच वनडे और 1 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलना है। सीएसी छह उम्मीदवारों — अनिल कुंबले, पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर टॉम मूडी, इंग्लिशमैन रिचर्ड पैबस, लालचंद राजपूत और डोडा गनेश का इंटरव्यू करेगी।