गुलाबी गेंद से खेलने के पक्ष में उतरे अंजिक्य रहाणे
फोटो साभार www.apxmn.com

भारत में गुलाबी गेंद से खेलने की बहस के बीच भारतीय टेस्ट टीम के सदस्य अंजिक्य रहाणे ने इसका समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि वह इस साल से दिन-रात में खेली जाने वाली दिलीप ट्रॉफी में इस गेंद से खेलने के लिए उत्साहित हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इस साल दिलीप ट्रॉफी के मैच दिन-रात के कराने का फैसला लिया है, जिसमें गुलाबी गेंद का इस्तेमाल किया जाएगा। अतीत में दूसरे ब्रांड की गुलाबी गेंद से खेल चुके रहाणे का कहना है कि कुकाबुरा गेंद से खेलना दिलचस्प होगा।

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने रहाणे के हवाले से लिखा है, “मैं गुलाबी गेंद से खेलने को तैयार हूं। मैंने काफी लंबे समय पहले इमरजिंग प्लेयर टूर्नामेंट में गुलाबी गेंद से खेला था। हमने हरी गेंद से भी खेला था, वह अलग कंपनी की गेंद थी।”

उन्होंने कहा, “वह प्लेटपस की गेंद थी, लेकिन कुकाबुरा की गेंद अलग होती है। दिलीप ट्रॉफी में हमें इसका अंदाजा हो जाएगा की यह कैसा बर्ताव करती है, इसमें उछाल कितना है।” [ये भी पढ़ें

रहाणे ने कहा, “मैंने मोहन बागान और भवानीपुर क्लब को टीवी पर इस गेंद से खेलते देखा। गुलाबी गेंद लाल गेंद से ज्यादा स्विंग कर रही थी और यह लाल गेंद से ज्यादा उछाल भी ले रही थी। हम जब एक बार इससे खेल लेंगे तो हमें इसका पता चर जाएगा।”