अंजुम चोपड़ा, सौजन्य- आईएएनएस
अंजुम चोपड़ा, सौजन्य- आईएएनएस

दिल्ली के फिरोज शाह कोटला स्टेडियम के गेट नंबर-3 और 4 को बुधवार को भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान अंजुम चोपड़ा के नाम कर दिया गया। दिल्ली एवं राज्य क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने पूर्व खिलाड़ी और अब कमेंटेटर की भूमिका निभाने वाली अंजुम के नाम पर गेट करने का फैसला किया है। अंजुम ने 6 विश्व कप में भारत की कप्तानी की है। वो भारत की तरफ से 100 वनडे खेलने वाली पहली महिला खिलाड़ी हैं। अंजुम चोपड़ा पहली महिला खिलाड़ी हैं जिनके नाम पर किसी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम के गेट का नाम रखा गया है।

40 साल की अंजुम ने इस मौके पर कहा, “दिल्ली ने कई दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ी दिए हैं और ये डीडीसीए द्वारा इस लायक समझना मेरे लिए सम्मान की बात है। कोटला पिछले कुछ सालों में काफी बदला है। इसके प्रवेश गेट का मेरे नाम किए जाना मेरे लिए सम्मान की बात है।” इससे पहले डीडीसीए ने इस स्टेडियम के गेट नंबर-2 को भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के नाम किया था।

अंजुम चोपड़ा ने अपने करियर में 12 टेस्ट, 127 वनडे और 18 टी20 मैच खेले। अंजुम चोपड़ा ने 12 टेस्ट में 30.44 के औसत से 548 रन बनाए। 127 वनडे में उनके बल्ले से 2856 रन निकले जिसमें एक शतक और 18 अर्धशतक शामिल थे।

उपुल थरंगा की जगह तिसारा परेरा बने श्रीलंका की वनडे,टी20 टीम के कप्तान
उपुल थरंगा की जगह तिसारा परेरा बने श्रीलंका की वनडे,टी20 टीम के कप्तान

 

डीडीसीए के सालाना सम्मेलन में पूर्व क्रिकेटर बिशन सिंह बेदी और मोहिंदर अमरनाथ के नाम पर कोटला स्टेडियम के स्टैंड का उद्घाटन भी किया गया। घरेलू टीम के ड्रेसिंग रूम को पूर्व क्रिकेटर रमन लांबा और विरोधी टीम के ड्रेसिंग रूम को प्रकाश भंडारी का नाम दिया गया। भंडारी दिल्ली के पहले टेस्ट क्रिकेटर थे जबकि लांबा पूर्व भारतीय बल्लेबाज हैं जिनका बांग्लादेश में एक मैच के दौरान सिर पर गेंद लगने से निधन हो गया था।