ए.आर. रहमान भी बने ओलम्पिक में भारत के सद्भावना दूत
फोटो साभार deccanchronicle.com

ओलम्पिक में स्वर्ण पदक जीत चुके निशानेबाज अभिनव बिंद्रा, बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान और क्रिकेट स्टार सचिन तेंदुलकर के बाद अब ऑस्कर विजेता संगीतकार अल्ला रक्खा रहमान (ए.आर. रहमान) ने भी इसी साल अगस्त में होने वाले रियो ओलम्पिक के लिए भारत का सद्भावना दूत बनने का भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। बॉलीवुड स्टार सलमान को ओलम्पिक में भारत का सद्भावना दूत बनाए जाने के बाद काफी विवाद खड़ा हो गया था। इसके बाद आईओए ने सलमान के साथ सद्भावना दूत बनने का प्रस्ताव बिंद्रा, सचिन और रहमान के समक्ष रखा था। बिंद्रा ने अप्रैल में यह प्रस्ताव स्वीकार कर लिया था जबकि सचिन ने तीन मई को इसे स्वीकार किया था।

अब रहमान ने गुरुवार को इसे स्वीकार कर लिया। भारतीय ओलम्पिक संघ को रहमान द्वारा प्रस्ताव स्वीकार किए जाने की पुष्टि हो चुकी है।

रहमान ने अपने संदेश में कहा, “मेरे लिए अगस्त 2016 में होने वाले ओलम्पिक खेलों के लिए भारतीय दल का सद्भावना दूत बनना सम्मान और गौरव की बात है।”

रियो ओलम्पिक का आयोजन 5 से 21 अगस्त के बीच होना है। दक्षिण अमेरिका महाद्वीप में पहली बार ओलम्पिक का आयोजन हो रहा है। आपको बता दें कि ऑस्कर विजेता संगीतकार ए.आर. रहमान ने ब्राजील के फुटबॉल खिलाड़ी पेले के जीवन पर आधारित आगामी अमेरिकी फिल्म ‘पेले : बर्थ ऑफ अ लेजेंड’ का ट्रेलर जारी किया है। ये भी पढ़ें:

ट्रेलर लॉन्च के मौके पर रहमान से उनकी सफलता का मंत्र पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “मुझे पेले में काफी समानताएं दिखती हैं, क्योंकि जब मेरे पिता (बतौर संगीतकार) इसे स्वतंत्र रूप से बनाने वाले थे, तब उनका निधन हो गया। इसी तरह फिल्म देखने पर आपको पता चलेगा कि उनके (पेले) पिता की भी एक फुटबॉल खिलाड़ी बनने की अभिलाषा थी, लेकिन वह कभी उस स्तर तक नहीं पहुंच पाए।”