एंजेलो मैथ्यूज © Getty Images
एंजेलो मैथ्यूज © Getty Images

श्रीलंका टीम के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी अर्जुन राणातुंगा ने टीम की लगातार हार के बाद बड़ा बयान दिया है। उनका कहना है कि एंजेलो मैथ्यूज एक बेहतरीन कप्तान हैं और उन्हें इस्तीफा देने से रोका जाना चाहिए था। गौरतलब है कि मैथ्यूज ने पहले चैंपियंस ट्रॉफी और फिर जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे सीरीज में हार के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। राणातुंगा ने क्रिकबज से बातचीत में कहा, “मेरे लिए रंजन मदुगले के बाद मैथ्यूज सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं। जब उसने कहा कि वह पद छोड़ना चाहता है तो श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड को उसे रोकना चाहिए था। अगर मैं कुछ कर सकता तो मैं उसे कहता कि ये पीछे हटने का समय नहीं है।”

राणातुंगा ने ये भी कहा कि जीत का श्रेय लेने के लिए आगे आने वालों को हार की जिम्मेदारी भी लेनी चाहिए। उन्होंने कहा, “जब श्रीलंका ने नंबर एक टीम ऑस्ट्रेलिया को क्लीन स्वीप किया था तो कई लोग जीत का श्रेय लेने आ गए थे लेकिन दुख इस बात का है कि जब टीम हार रही है तो सभी पीछे हट गए और सारा दोष कप्तान पर डाल दिया। मैथ्यूज काफी सकारात्मक कप्तान हैं लेकिन लगातार बदलाव और हार से उसने अपना हौसला खो दिया और वह भी नकारात्मक हो गया।” [ये भी पढ़ें: श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में टीम इंडिया में हो सकते हैं बड़े बदलाव]

मैथ्यूज बतौर हरफनमौला खिलाड़ी अब भी टीम का हिस्सा हैं। हालांकि वह हैमस्ट्रिंग की वजह से टेस्ट सीरीज में गेंदबाजी नहीं कर पाए थे लेकिन पहले दो वनडे मैचों में उन्होंने गेंदबाजी की है। फिटनेस को ध्यान में रखते हुए मैथ्यूज 10 ओवर का स्पेल नहीं डाल सकते इसलिए उनसे 5-6 ओवरों के लिए गेंदबाजी कराई जा रही है।