© Getty Images (representational photos)
© Getty Images (representational photos)

लंदन। सरे और मीडिलसेक्स के बीच चल रहे काउंटी क्रिकेट मैच के दौरान ओवल क्रिकेट स्टेडियम में तीर से हुये हमले के बाद स्टेडियम को खाली कराया गया है। पुलिस ने यह जानकारी देते हुये बताया कि काउंटी चैंपियनशिप के इस मैच के दौरान एक तीर पिच के निकट क्षेत्ररक्षण कर हे सरे के ओल्ले पोप के पास गिरा। तीर का अगला सिरा धातु से बना था। खिलाड़ियों ने इसकी जानकारी मैदानी अंपायर को दी जिसके बाद उन्होंने खेल को रोक दिया और सुरक्षा के लिये खिलाड़ियों को ड्रेसिंग रूम में भेज दिया गया।

पुलिस ने कहा कि इस घटना में कोई घायल नहीं हुआ है और ऐसा लग रहा है कि तीर को मैदान के बाहर से छोड़ा गया था। हमें इसके बारे में शाम 04:35 (स्थानीय समयानुसार) पर जानकारी मिली। मामले में अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। जिस वक्त तीर मैदान पर गिरा उस वक्त मैच ड्रॉ की ओर बढ़ रहा था। सरे के क्रिकेटर स्टुअर्ट मीकर ने ट्वीट किया, “हम अभी आधिकारिक रूप से मैदान के बाहर तले गए है क्योंकि एक धातु लगा हुआ तीर अभी पिच पर आ गिरा।”

इस बात की जानकारी सरे स्पोक्समेन ने ब्रिटेन की प्रेस असोसिएशन न्यूज एजेंसी को दी। जिस समय गेंदबाज अगली गेंद फेंकने के लिए जा रहा था उसी समय एक तीर उन्हें पिच के पास पड़ा हुआ दिखाई दिया। अंपायर ने तीर को जमीन से उठाया और खिलाड़ियों को तुरंत मैदान खाली करने को कहा। [ये भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया को हराने के लिए बांग्लादेशी खिलाड़ियों ने देखे थे इन भारतीय खिलाड़ियों के वीडियो]

 

द ओवल क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन स्टेडियम में से एक माना जाता है। इस मैदान की क्षमता 25,500 है। इसकी स्थापना साल 1845 में हुई थी। शुरुआत में यहां फुटबॉल मैच खेले जाया करते थे और बाद में यह मैदान क्रिकेट के लिए प्रसिद्ध हो गया। यहां पहला टेस्ट साल 1880 में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था।