Arun Lal: I will not lock myself in a room due to BCCI’s SOP
अरुण लाल (Twitter)

कोविड-19 के बीच क्रिकेट की शुरुआत करने के लिए जारी की गई बीसीसीआई की गाइडलान्स से नाखुश बंगाल के कोच अरूण लाल का कहना है कि घरेलू टीमों के लिए भारतीय क्रिकेट बोर्ड की मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) लागू होने का ये मतलब नहीं कि वो खुद को कमरे में बंद कर लेंगे।

दरअसल बोर्ड ने राज्य संघों के लिए एसओपी जारी किया है जिसके अनुसार 60 साल से अधिक उम्र के लोग जिन्हें कोई बीमारी रही हो या जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो, उन्हें सरकार के आगामी निर्देश मिलने तक अभ्यास शिविरों में नहीं आना चाहिए।

अरूण लाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का उदाहरण देते हुए कहा कि वो कैसे इस उम्र में देश चला रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री 69 साल के हैं और ऐसे समय में देश चला रहे हैं। क्या उनको कोई इस्तीफा देने को कहता है।’’

60 साल के अरुण लाल और 65 साल के डेव वाटमोर अब नहीं दे सकते कोचिंग

उन्होंने कहा, ‘‘मैं बंगाल को कोचिंग दूं या नहीं लेकिन मैं अपनी जिंदगी जिऊंगा। मुझसे ये अपेक्षा मत रखिए कि 65 साल का होने के कारण मैं अगले 30 साल तक खुद को एक कमरे में बंद कर लूंगा। ऐसा नहीं होगा।’’