Ashes 2017-18: Losing Ben Stokes means more of a chance to prove our worth, says Chris Woakes
क्रिस वोक्स © Getty Images

इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान जो रूट का मानना है कि बेन स्टोक्स की गैर मौजूदगी बाकी खिलाड़ियों के लिए आगे आने का सुनहरा मौका है और इसका सबसे बड़ा उदाहरण हैं क्रिस वोक्स। वोक्स इंग्लैंड टीम में ऑलराउंडर खिलाड़ी स्टोक्स की कमी पूरी कर सकते हैं। इस बारे में बात करते हुए वोक्स ने कहा, “बतौर ऑलराउंडर बेन को खोने का मतलब है कि मुझे, मोइन(अली) और काफी हद तक जॉनी(बियरस्टो) को भी खुद को साबित करने के ज्यादा मौका मिलेंगे।” वोक्स ने इससे पहले 2013 की एशेज सीरीज में केवल एक मैच खेला था।

वोक्स ने आगे कहा, “अगर मुझे शीर्ष क्रम में बल्लेबाजी करने का मौका मिलता है तो मैं चुनौती पर खरा उतरने की कोशिश करूंगा और मौके का फायदा उठाकर ज्यादा से ज्यादा रन बनाने की कोशिश करूंगा।” वोक्स ने बताया कि वह अपनी बल्लेबाजी को लेकर काफी गंभीर हैं। इंग्लैंड के लिए 9 नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले वोक्स वारविकशायर टीम के लिए ऊपरी क्रम में खेलते हैं। उनकी मानसिकता एक बल्लेबाज जैसी ही है।

भारत दौरे पर 4-0 से हारने वाली इंग्लैंड टीम का हिस्सा रहे वोक्स का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया में हालात एकदम अलग होंगे। उन्होंने कहा, “टर्निंग पिच पर आपको ज्यादा स्पिन का सामना करना पड़ सकता है जिसकी आपको आदत नहीं है। हालांकि ऑस्ट्रेलिया में तेज गेंदबाजी ज्यादा देखने को मिलेगी, फर्क केवल इतना होगा कि वहां सीम कम और उछाल ज्यादा होगा। इंग्लैंड के किसी क्रिकेटर के लिए ऑस्ट्रेलिया जाना बड़ी बात है। इस सीरीज के साथ कितना इतिहास और परंपरा जुड़ी है, किसी भी खिलाड़ी के लिए ये एक बड़ी सीरीज है।”