पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज डेमियन फ्लेमिंग (Damien Fleming) ने कहा कि कैमरून ग्रीन (Cameron Green) के ‘परफेक्ट आउटस्विंगर’ को देखते हुए वो नई गेंद से गेंदबाजी करने के उम्मीदवार के रूप में तेजी से उभर रहे हैं। 22 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के प्लेइंग इलेवन में सबसे कम उम्र के खिलाड़ी ग्रीन ने इंग्लैंड के खिलाफ पहली पारी के अपने ओवर में ओली पोप को 35 रन पर आउट किया था।

दूसरी पारी में उन्होंने 12 ओवर में 23 रन देकर दो विकेट लिए थे और पांच मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को नौ विकेट से हरा दिया था।

ग्रीन ने अपनी पहली डेब्यू सीरीज में भारत के खिलाफ शानदार बल्लेबाजी भी की थी जिसमें उन्होंने 30 से अधिक औसत के साथ रन बनाए थे। टीम में वह बल्लेबाजी के लिए छह नंबर पर क्रीज में उतरते हैं, लेकिन ब्रिस्बेन टेस्ट में वह 0 रन पर आउट हो गए।

फ्लेमिंग ने सोमवार को एसईएन ब्रेकफास्ट से कहा, “85 ओवर की गेंद से ग्रीन दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज को बेहतरीन आउटस्विंगर गेंद फेंकते हैं और उसे आउट करते हैं। मैं वास्तव में नई गेंद के साथ ग्रीन को देखना चाहता हूं। 140 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक की रफ्तार के साथ वह गेंद को आउटस्विंग कराता है। मुझे नहीं लगता कि हमने पिछले साल उसका अच्छा इस्तेमाल किया था, उसे पुरानी गेंद से गेंदबाजी करने को कहा गया था और पहले शॉर्ट गेंदबाजी करने के लिए उसे बोला जाता था।”

20 टेस्ट और 88 वनडे मैच खेलने वाले फ्लेमिंग ने दोनों में 200 से अधिक विकेट लिए, उन्होंने कहा “आस्ट्रेलियाई टीम को एक आउटस्विंगर मिला है और हम जानते हैं कि उनकी गेंदबाजी बल्लेबाजों के लिए घातक साबित हो सकती है।”