Asia Cup 2018 : Mashrafe Mortaza says people should always remember Tamim Iqbal
Tamim-Iqbal © Getty Images (File Photo)

बांग्‍लादेश के अनुभवी ओपनर तमीम इकबाल एशिया कप के पहले मैच में बल्लेबाजी के लिए उतरे, चोटिल हुए, अस्पताल गए, कलाई में फ्रैक्चर के साथ वापस लौटे और फिर बल्लेबाजी की और इस बार एक हाथ से। उनके इस साहसिक कदम की जमकर तारीफ हो रही है।

डॉक्टरों ने तमीम को कह दिया था कि बायीं कलाई में फ्रैक्चर के कारण उनके लिए एशिया कप खत्म हो गया है लेकिन इसके घंटों बाद तमीम नौवां विकेट गिरने पर क्रीज पर उतरे और एक हाथ से बल्लेबाजी की।

उन्होंने शतक जड़ने वाले मुशफिकुर रहीम  के साथ बल्लेबाजी की और अंतिम विकेट के लिए 32 रन जोड़ने में मदद की जिससे उनकी टीम 261 रन बनाने में सफल रही और बांग्लादेश ने टूर्नामेंट के पहले मैच में श्रीलंका पर बड़ी जीत दर्ज की।

बांग्लादेश के कप्तान मशरेफ मुर्तजा ने मैच के बाद कहा, ‘ काफी दबाव था, दो विकेट जल्दी गिर गए और तमीम बल्लेबाजी नहीं कर सकते थे।लेकिन दोबारा बल्लेबाजी करने का फैसला उन्‍होंने किया। अगर वह बल्लेबाजी नहीं करना चाहते तो कोई उनपर इसके लिए दबाव नहीं डाल सकता था। तमीम के लिए मैं यही कहना चाहूंगा कि लोग उन्‍हें हमेशा याद करेंगे।’

कप्तान ने कहा कि तमीम का बाहर होना बांग्लादेश के लिए बड़ा झटका है। उन्होंने साथ ही मुशफिकुर की पारी को अपने देश के क्रिकेटर की सर्वश्रेष्ठ पारी में से एक करार दिया।

बांग्‍लादेश ने इस मुकाबले में पहले बल्‍लेबाजी करते हए मुशफिकुर रहीम के शानदार शतक के बूते 261 रन बनाया था। जवाब में श्रीलंकाई टीम 124 रन पर ढेर हो गई।