Asia Cup 2018: Sandeep Patil questions Virat Kohli’s absesnce from Indian squad
Virat Kohli © Getty Images

पूर्व क्रिकेटर और टीम इंडिया के चयनकर्ता रह चुके संदीप पाटिल ने एशिया कप से विराट कोहली को बाहर रखने के बोर्ड के फैसले पर सवाल उठाए हैं। द क्विंट के लिए लिखे कॉलम में पाटिल ने कहा, “चयनसमिति का पूर्व चेयरमैन होने के नाते मैं ये मानता हूं कि खिलाड़ियों के वर्कलोड पर ध्यान दिया जाना चाहिए लेकिन जब बात भारत-पाकिस्तान मैच की आता है, जिससे भारत के क्रिकेट प्रशंसक भावनात्मक रूप से जुड़े हैं तो इस फैसले को समझना मुश्किल हो जाता है। केवल फैन ही नहीं दोनो देशों के खिलाड़ी और बोर्ड अधिकारी भी इस मैच को बड़ा मानते हैं।”

बीसीसीआई ने कप्तान विराट कोहली के वर्कलोड के चलते उन्हें एशिया कप से आराम देकर रोहित शर्मा को कप्तानी सौंपी है। कोहली टीम के साथ इंग्लैंड के लंबे दौरे पर थे, जिसके चलते बोर्ड ने ये फैसला लिया। हालांकि पाटिल इससे सहमत नहीं है, उन्होंने पूर्व दिग्गज कपिल देव की बात करते हुए लिखा, “मैं महान कपिल देव की बात कर रहा था, जिनका वर्कलोड काफी जल्दी शुरु हुआ था और और उनके संन्यास लेने तक खत्म नहीं हुआ। वो केवल गेंदबाजी नहीं करते थे बल्कि टेस्ट, वनडे और घरेलू मैचों में लंबे स्पेल डालते थे। साथ ही मालिक कंपनियों के लिए भी खेलते थे। वो अभ्यास सेशन में भी पहले बल्लेबाज से लेकर आखिरी बल्लेबाज तक सभी को बिना ब्रेक लिए गेंद कराते थे।”

पाटिल ने मौजूदा क्रिकेटरों के सख्त फिटनेस रूटीन पर भी रोशनी डाली। उन्होंने लिखा, “मुझे पता है कि समय बदल चुका है लेकिन ये सोचने वाली बात है कि खिलाड़ियों को आराम देने की इस नई रणनीति और हर किसी के फिटनेस को इतनी ज्यादा तवज्जो देने के बाद भी हम लगातार चोटों का सामना कर रहे हैं। इसी वजह से एक ही सवाल बार बार सामना आ रहा है। क्या अहम टूर्नामेंट में बड़े खिलाड़ियों को आराम देना सही है? क्या खेल इतना बदल गया है? मेरा जवाब है ना।”

पाटिल ने आगे लिखा, “मैं विराट कोहली को दोष नहीं देता हूं लेकिन मेरा सवाल है कि बीसीसीई के कॉन्ट्रेक्ट में 30 से ज्यादा उम्र के कई खिलाड़ी हैं, सभी ने बराबर मैच खेलें हैं और सभी का वर्कलोड कोहली जितना ही है तो फिर केवल कोहली को ही आराम क्यों?”