Asia Cup 2018: we won the tournament when Tamim Iqbal played with broken hand, says Mashrafe Mortaza
Mashrafe Mortaza (File Photo) © AFP

एशिया कप 2018 में सुपर-4 के अंतिम मुकाबले में बांग्‍लादेश ने पाकिस्‍तान को हराकर फाइनल में अपनी जगह बनाई। शुक्रवार को अब भारत और बांग्‍लादेश की टीमें खिताबी मुकाबले में आमने सामने होंगी। बांग्लादेशी कप्तान मशरफे मुर्तजा ने मैच से एक दिन पहले कहा कि उन्हें भारत को बेहतर टीम करार देने में कोई हिचकिचाहट नहीं है लेकिन हमने एशिया कप तभी जीत लिया था जब तमीम इकबाल ने टूर्नामेंट के शुरूआती मैच में एक हाथ से बल्लेबाजी की।

सलामी बल्लेबाज तमीम बांग्लादेश के कुछ खिलाड़ियों में से एक हैं जिनकी कमी शुक्रवार को भारत के खिलाफ होने वाले मुकाबले में टीम को खलेगी। तमीम के अलावा बांग्लादेश को आलराउंडर शाकिब उल हसन की सेवाएं भी नहीं मिल पाएंगी। मुर्तजा की अंगुली में चोट है और मुशफिकुर रहीम भी चोटिल होने के बावजूद खेलेंगे। मैच से एक दिन पहले कप्‍तान ने कहा, ‘‘ईमानदारी से कहूं तो जिस समय तमीम श्रीलंका के खिलाफ मुश्फिकुर की मदद के लिए अंतिम खिलाड़ी के तौर पर मैदान पर उतरा तभी मैंने एशिया कप जीत लिया था। ’’

बांग्लादेश को 2016 में टूर्नामेंट के फाइनल में भारत से हार मिली थी जबकि चार साल पहले एशिया कप के खिताबी मुकाबले में पाकिस्तान ने हराया था। यह पूछने पर कि क्या उन्होंने भारत के खिलाफ अहम मुकाबलों के दौरान पिछली गलतियों से सीख ली है तो उन्होंने कहा, ‘‘हर टूर्नामेंट का सफर अलग तरह का होता है, फिर चाहे इसमें 2012 में पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल हो या फिर 2016 में भारत के खिलाफ फाइनल। हर बार हमने कुछ मुश्किल हालात का सामना किया, इनसे निपटे और फाइनल में पहुंचे।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इस टूर्नामेंट का यह सफर बहुत मुश्किल था क्योंकि हमने पहले मैच से खिलाड़ियों को चोटिल होने के कारण गंवाना शुरू कर दिया था। ये भी चिंताएं थी कि मुश्फिकुर रहिम भी खेलेंगे या नहीं, फिर भी वह फिट नहीं होने के बावजूद खेले। हमें उनसे सीख लेनी चाहिए।’’

(एजेंसी इनपुट के साथ)