AUS vs SL: Kurtis Patterson receives praise from former skipper Brian Booth for his first Test Century
Kurtis Patterson (File photo) @ AFP

श्रीलंका के खिलाफ प्रैक्टिस मैच की दोनों पारियों में शतक जड़कर चर्चा में आए युवा बल्‍लेबाज कुर्टिस पैटरसन को मौजूदा टेस्‍ट सीरीज में टीम घोषित होने के बावजूद भी शानदार प्रदर्शन के चलते एंट्री दे दी गई। कैनबरा टेस्‍ट में उन्‍होंने अपने करियर का पहला शतक जड़ा। इस प्रदर्शन से पैटरसन के कोच रहे ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान ब्रायन बूथ काफी प्रभावित हैं।

क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से बातचीत के दौरान ब्रायन बूथ ने कहा, “पैटरसन जब कम उम्र का था तो मैंने उसपर काफी काम किया। ब्रिसबेन में खेले गए सीरीज के पहले मैच में डेब्‍यू के बाद पैटरसन ने मुझे मैसेज भेजा। उसने कहा कि कैनबरा टेस्‍ट में जरूर अच्‍छा प्रदर्शन करेगा। वो एक अच्‍छा इंसान है।”

पढ़ें:- चोट के बाद धोनी की वापसी रही नाकाम, बोल्ट की गेंद पर उड़ी गिल्लियां

बूथ ने अपने अंतरराष्‍ट्रीय करियर के दौरान 29 टेस्‍ट मैचों में कप्‍तानी की है। उन्‍होंने कहा, “पैटरसन को करियर का पहला शतक जड़ते देखकर मेरी पत्‍नी भी भावुक हो गई थी। उनके पहले शतक ने मेरी पत्‍नी की मेरे करियर के पहले शतक की यादें ताजा कर दी। मैं भी उनके पहले शतक से काफी खुश हूं।”

पढ़ें: जेसन होल्डर, कीमार रोच की शानदार गेंदबाजी के दम पर वेस्टइंडीज ने एंटीगुआ टेस्ट जीता

कैनबरा टेस्‍ट की पहली पारी में पैटरसन ने 192 गेंद पर 114 रनों की नाबाद पारी खेली। इस दौरान उन्‍होंने 14 चौके और एक छक्‍का भी लगाया। पैटरसन की इस शानदार पारी के दम पर ही ऑस्‍ट्रेलिया ने पहली पारी में 534 रन बनाए। ब्रायन बूथ ने कहा, “ये उनके लिए आगे बढ़ने का समय है। आपने ऑस्‍ट्रेलिया के लिए खेलने का सपना देख था जो पूरा हो गया है। तीन अंकों में रन बनाना एक और कीर्तिमान है जो पैटरसन ने अपने नाम कर लिया है।”