ऑस्ट्रेलिया टीम © Getty Images
ऑस्ट्रेलिया टीम © Getty Images

बांग्लादेश में जीत के इरादे से गई ऑस्ट्रेलियाई टीम कड़े अभ्यास में जुटी है। टीम को पता है कि उन्हें स्पिन गेंदबाजी से खतरा हो सकता है और इसीलिए वो स्पिन गेंदबाजी से निपटने के लिए कुछ अलग तरह से प्रैक्टिस कर रही है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी प्रैक्टिस के दौरान सामने वाले पैर में बिना पैड पहने ही प्रैक्टिस करते नजर आए। मतलब, ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी स्पिन की काट ढूंढने के लिए एक पैर में पैड पहन कर प्रैक्टिस में जुटे हैं। मामले पर ग्लेन मैक्सवेल ने कहा, ”हम साल 2012 की ही तरह प्रैक्टिस कर रहे हैं। हमने साल 2012 में भी इसी तरह की प्रैक्टिस की थी।”

मैक्सवेल ने आगे कहा, ”जब हमारी टीम के कोच जस्टिन लैंगर थे तो हम इसी तरह से प्रैक्टिस किया करते थे। हमने भारत दौरे से पहले भी इस तरह की प्रैक्टिस की थी। इस प्रैक्टिस के पीछे की वजह ये है कि बल्लेबाज ज्यादा से ज्यादा बल्ले से गेंद को खेले ना कि अपने पैड का इस्तेमाल करे। इस तरह से खिलाड़ियों का डिफेंस मजबूत होगा और वो घूमती गेंदों के खिलाफ अच्छा डिफेंस कर सकेंगे। बांग्लादेश के गेंदबाज गेंदों को अच्छा घुमाते हैं और इससे हमें उन्हें खेलने में आसानी होगी।” ये भी पढ़ें: दूसरे वनडे मैच से पहले नहीं गाया जाएगा ‘राष्ट्रगान’

आपको बता दें कि भारत दौरे पर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की स्पिन के सामने कमजोरी खुलकर सामने आ गई थी और बांग्लादेश भी ऑस्ट्रेलिया की इसी कमजोरी का फायदा उठाने की कोशिश में है। ऑस्ट्रेलिया और बांग्लादेश के बीच 2 मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जानी है। दोनों देशों के बीच पहला टेस्ट मैच 27 अगस्त से ढाका में खेला जाएगा और इसके बाद सीरीज का दूसरा और आखिरी मैच 4 सितंबर से चटगांव में खेला जाएगा।